छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह के निजी सचिव पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली किशोरी परिवार सहित गायब, अपहरण का मामला दर्ज

0

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के निजी सहायक (पीए) पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली बालिका और उसका पूरा परिवार लापता हो गया है। किशोरी के निकट परिजन की शिकायत पर पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है।

छत्तीसगढ़

राजनांदगांव जिले के पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि जिला निवासी किशोरी, उसके माता, पिता और भाई के लापता होने के बाद पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है। समाचार एजेंसी पीटीआई (भाषा) की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जनवरी, 2019 में 16 वर्षीय किशोरी ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के निजी सहायक ओपी गुप्ता के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कराया था। तभी से 11 वीं कक्षा की इस छात्रा को राजनांदगांव जिले के बालिका संरक्षण गृह में रखा गया था। उन्होंने बताया कि किशोरी के परिजनों ने आरोप लगाया है कि इस महीने की चार तारीख को बालिका के माता, पिता और भाई उसे संरक्षण गृह से घर ले जाने गए थे। लेकिन उसके बाद से उनकी कोई सूचना नहीं है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जब चारों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली तब नौ मार्च को मोहला थाना में बालिका और उसके परिजनों के लापता होने का मामला दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि इस सोमवार को बालिका के अन्य परिजन राजनांदगांव में पुलिस अधीक्षक से मिले और उन्होंने बलात्कार के आरोपी गुप्ता पर अपहरण का शक जताया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बाद में पुलिस ने इस सिलसिले में अपहरण का मामला दर्ज कर लिया तथा बालिका और उसके परिजनों की खोज शुरू की गई।

जनवरी में बालिका ने पुलिस में मामला दर्ज कराया था कि गुप्ता ने 2016 से लेकर दिसंबर 2019 के दौरान नया रायपुर में उसके साथ लगातार बलात्कार किया था। बालिका का कहना था कि उसके माता पिता ने 2015 में गुप्ता के घर में बालिका को छोड़ दिया था। गुप्ता ने बालिका के माता पिता को भरोसा दिलाया था कि वह बालिका को पढ़ाएगा। बालिका की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी गुप्ता के खिलाफ बलात्कार और लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम (पॉक्सो) कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here