बंदरों की झुंड में मिली लड़की करती है उन्हीं की तरह व्यवहार

0

उत्तर प्रदेश के बहराइच के जंगल से पुलिस को आठ साल की एक ऐसी लड़की मिली है,जो बंदरों के झुंड में रहती है और जिसका व्यवहार सामान्य इंसानों की तरह नहीं है। बच्ची की हरकतें जानवरों जैसी हैं। वह न तो बोलती है और न ही इंसानों जैसा व्यवहार करती है।

लड़की

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बहराइच में गश्ती के दौरान पुलिस की एक टीम को यह लड़की बंदरों के साथ मोतीपुर रेंज के कटरनियाघाट वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में दिखाई दी। इस मामले की जानकारी देते हुए दारोगा सुरेश यादव ने कहा जब उन्होंने इस लड़की को बचाने की कोशिश की तो वह बंदरों के साथ बहुत ही खुश नजर आई।

दारोगा ने कहा जब हमने उसके पास जाना चाहा तो वहां मौजूद सभी बंदर हमपर चिल्लाने लगे और लड़की भी हमपर चिल्लाई। उन्होंने कहा कि काफी मशक्कत करने के बाद हम लड़की को वहां से निकालने में कामयाब हुए। इसके बाद हमने लड़की को इलाज के जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

जिला अस्पताल में करीब 2 महीने तक चले इलाज से बच्ची के रहन-सहन में मामूली सुधार आया है। वह अब स्वस्थ तो होने लगी है, लेकिन उसे गोद लेने को कोई तैयार नहीं है। चाइल्ड लाइन ने भी बच्ची को रखने से इनकार कर दिया है।

अस्पताल के एक कर्मचारी ने बताया कि वह जानवरों की तरह ही बिना हाथ का इस्तेमाल किए सीधे मुंह से खाना खाती है। इसके साथ ही उसे पैरों से चलाने की कोशिश की जाती है लेकिन वह जानवरों की तरह हाथ और पैर का इस्तेमाल करके चलती है।

वहीं अस्पताल के चीफ मेडिकल आफिसर डीके सिंह ने बताया कि दो माह पहले मिली यह लड़की जानवरों की तरह खाती है और जानवरों की तरह ही चलती भी है। साथ ही जब वह किसी इंसान को देखती थी, तो भाग जाती थी। सीएमओ ने बताया कि उसकी त्वचा पर कई निशान हैं, जो यह साबित करते हैं कि वह जानवरों के साथ रहती थी। उसका इलाज जारी है।

 जानकारी के अनुसार, लड़की के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं है,ना ही उसकी पहचान हो पायी है। वह जंगल कैसे पहुंचीं इस बारे में भी अभी कोई जानकारी नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here