जानिए कौन हैं जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के पहले उपराज्यपाल बनने वाले गिरीश चंद्र मुर्मू और राधा कृष्ण माथुर

0

आईएएस अधिकारियों गिरीश चंद्र मुर्मू और राधा कृष्ण माथुर को क्रमश: जम्मू कश्मीर और लद्दाख का उपराज्यपाल नियुक्त किया गया। धारा 370 हटने के बाद लद्दाख और जम्मू-कश्मीर दोनों केंद्र शासित प्रदेश 31 अक्टूबर से अस्तित्व में आ जाएंगे।

उपराज्यपाल
फाइल फोटो: गिरीश चंद्र मुर्मू और राधा कृष्ण माथुर

मुर्मू जहां गुजरात काडर के 1985 बैच के अधिकारी हैं और केंद्रीय वित्त मंत्रालय में व्यय सचिव के तौर पर कार्यरत हैं, वहीं माथुर 1977 बैच के अधिकारी हैं और वह रक्षा सचिव के तौर पर कार्य कर चुके हैं और पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त (सीआईसी) हैं। दोनों केंद्र शासित प्रदेश 31 अक्टूबर को अस्तित्व में आ जाएंगे।

राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि जम्मू कश्मीर के मौजूदा राज्यपाल सत्यपाल मलिक का तबादला कर दिया गया है। सत्यपाल मलिक को गोवा का राज्यपाल बनाया गया है। जम्मू कश्मीर के पूर्व वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा को लक्षद्वीप का प्रशासक नियुक्त किया गया।

बता दें कि, मोदी सरकार ने बीते पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त कर दिए थे।

जानिए कौन हैं गिरीश चंद्र मुर्मू

जम्मू-कश्मीर के पहले उपराज्यपाल बनने वाले गिरीश चंद्र मुर्मू 1985 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के अधिकारी हैं। मुर्मू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भी काम कर चुके हैं। जब नरेंद्र मोदी गुजरात के सीएम तब गिरीश चंद्र मुर्मू उनके प्रमुख सचिव थे। 21 नवंबर 1959 को जन्मे मुर्मू ने पॉलिटिकल साइंस में परास्नातक के साथ एमबीए भी किया है। बर्मिंघम यूनिवर्सिटी के छात्र रह चुके जीसी मुर्मू को तेज-तर्रार अफसर माना जाता है। मुर्मू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के विश्वासपात्र हैं। कहा जाता है कि पीएम मोदी और मुर्मू दोनों एक-दूसरे की कार्यशैली को पसंद करते हैं।

जानिए कौन हैं राधा कृष्ण माथुर

केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के पहले एलजी बनाए गए राधा कृष्ण माथुर त्रिपुरा कैडर के 1977 बैच के सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी हैं। वह नवंबर 2018 में भारत के मुख्य सूचना आयुक्त (CIC) के रूप में सेवानिवृत्त हुए। इससे पूर्व 25 मई 2013 से दो साल तक वह रक्षा सचिव रहे। वह भारत के रक्षा उत्पादन सचिव, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम सचिव और भारत के मुख्य सचिव और त्रिपुरा के मुख्य सचिव भी की भूमिका भी निभा चुके हैं। आईएएस बनने से पहले माथुर ने, आईआईटी कानपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग और आईआईटी दिल्ली से इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग में मास्टर्स की पढ़ाई की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here