पहले संबित पात्रा ने हाफिज सईद से की ‘महागठबंधन’ की तुलना, अब गिरिराज सिंह ने विरोधी दलों को बताया ‘ओसामावादी’ और ‘माओवादी’

0

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता गिरिराज सिंह ने एकजुट हो रहे विपक्षी दलों को लेकर बेहद विवादित बयान दिया है। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सोमवार (4 जून) को विपक्षी दलों की तुलना दुनिया के कुख्यात आतंकवादी ओसामा बिन लादेन से कर दी। बीजेपी नेता ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ‘माओवादी’ और ‘ओसामावादी’ एकजुट हो गए हैं।गिरिराज सिंह ने सोमवार सुबह अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा, “शुभप्रभात…माओवादी, जातिवादी, सामन्तवादी और ओसामावादी सभी राष्ट्रवादी गठबंधन (NDA) के ख़िलाफ़ एकजुट हो गए हैं। लेकिन विकास की अविरल गंगा में बहते हुए NDA की नाव नियत गति से 2019 का पड़ाव अवश्य पार करेगी।’

बता दें कि गिरिराज सिंह अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाते हैं। इससे पहले मार्च महीने में बिहार के अररिया लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में राजद के प्रत्याशी सरफराल आलम ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रदीप कुमार सिंह को 60 हजार से अधिक मतों के अंतर से मात दी थी। सरफराज आलम की जीत को खतरनाक बताते हुए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह कहा था कि अररिया अब आतंकियों का गढ़ बन जाएगा।

संबित पात्रा ने हाफिज सईद से की थी ‘महागठबंधन’ की तुलना

गौरतलब है कि इससे पहले रविवार को बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने महागठबंधन की तुलना पाकिस्तान के आतंकवादी हाफिज सईद से की थी। संबित पात्रा ने कहा है कि अबतक नहीं बन पाया ‘महागठबंधन’ और हाफिज सईद मोदी को पीएम बनने से रोकना चाहते हैं। दरअसल, संबित पात्रा ने हाफिज सईद के जहरीले भाषण का एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है, जिसमें वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल कर रहा है और उन्हें रोकने की बात कर रहा है।

इस वीडियो को शेयर करते हुए संबित पात्रा ने लिखा, ‘इसमें कोई नई बात नहीं है कि महागठबंधन 2019 में मोदी को प्रधानमंत्री बनने से रोकना चाहता है। महागठबंधन के अलावा ऐसे कई अन्य लोग भी हैं जो ऐसा ही चाहते हैं। हाफिज सईद खुलेआम नरेंद्र मोदी का खून बहाने की बात कर रहा है।’ हालांकि संबित ने बाद में सफाई दी है कि यह कोई तुलना नहीं लेकिन उनके बयान पर विपक्ष की प्रतिक्रिया जरूर तीखी हो सकती है।

संबित पात्रा ने सफाई देते हुए एक और ट्वीट कर लिखा कि बेशक यह तुलना नहीं है। उन्होंने ट्वीट में आगे लिखा, ‘ब्लैक मनी और करप्शन पर मोदीजी के हमले ने विपक्ष को एक साथ ला दिया है जबकि आतंकवाद पर उनके हमले और सर्जिकल स्ट्राइक ने हाफिज सईद को निराशा में धकेल दिया है। इससे साबित होता है कि मोदी सरकार सही दिशा में जा रही है।’

बता दें कि हाल ही में देश भर में 14 सीटों पर हुए उपचुनावों के नतीजों में बीजेपी को विपक्षी एकजुटता ने करारा झटका दिया है। इससे पहले भी विपक्षी पार्टियों की एकजुटका का परिणाम यूपी के गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के दौरान दिखा, उसके बाद कर्नाटक में भी विपक्षी एकता देखने को मिला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here