हैवानियत का शिकार बनी पाकिस्तानी महिला उतरी रैंप पर, कहा- हम औरतें कमजोर नहीं

0

पाकिस्तान में 14 साल पहले सामूहिक बलात्कार और हैवानियत का शिकार बनी मुख्तार माई ने इस सप्ताह फैशन वीक में रैंप पर चलकर सबका ध्यान अपनी ओर खींचा।

 पाकिस्तानी महिला

कराची में आयोजित इस फैशन शो में पाकिस्तानी फैशन जगत के कई नामचीन लोग शामिल हुए। रैंप पर चलने के बाद माई ने कहा कि वह पाकिस्तानी महिलाओं के लिए उम्मीद और साहस के मॉडल के तौर पर यह कर रही हैं।

1024x1024

माई ने बताया, ‘अगर मैं एक कदम बढ़ाती हूं और इससे किसी एक महिला को भी मदद मिलती है, तो मुझे ऐसा करके बहुत खुशी महसूस होगी.’ साल 2002 में माई के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था और सार्वजनिक तौर पर नग्न अवस्था में घुमाया गया था. उसे उसकी भाई के गलत व्यवहार की सजा दी गई थी।

भाषा की खबर के अनुसार,  उन्होंने कहा, ‘मैं उन महिलाओं की आवाज बनना चाहती हूं, जो उस तरह के हालात का सामना करती हैं, जैसे मैंने किया है. मेरा संदेश है कि हम औरतें कमजोर नहीं हैं. हमारे पास दिल और दिमाग है, हम भी सोचते हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here