खत्म हुआ गजेंद्र चौहान का कार्यकाल, 14 महीने में मात्र एक बार गए कैंपस, सोशल मीडिया पर यूजर्स बोले- ‘FTII को आजादी मुबारक’

0

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया(एफटीआईआई) के चेयरमैन गजेंद्र चौहान को दूसरा कार्यकाल देने से इनकार कर दिया है। गजेंद्र चौहान का कार्यकाल तीन मार्च 2017 को समाप्त हो गया। एफटीआईआई के नए चेयरमैन के लिए सरकार ने तलाश शुरू कर दी है।

फोटो: साभार

बता दें कि गजेंद्र चौहान जब एफटीआईआई के चेयरमैन पद का कार्यभार संभाला था तो देश में काफी हंगामा हुआ था। चौहान के विरोध में 139 दिनों तक एफटीआईआई के छात्रों ने हड़ताल किया था। एफटीआईआई छात्रों के साथ बॉलीवुड के कई बड़े कलाकारों ने भी गजेंद्र चौहान की काबिलियत पर सवाल खड़े किए थे।

संस्थान के छात्रों ने पूणे से लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर तक विरोध प्रदर्शन किया था, जिसकी वजह से अपने नियुक्ति के सात महीने तक अपना पदभार संभाल नहीं पाए थे। यही वजह है कि अपने 14 महीने के कार्यकाल के दौरान गजेंद्र चौहान सिर्फ एक बार सात जनवरी 2016 को ही संस्थान में किसी मीटिंग में हिस्सा लेने गए थे।

कार्यकाल पूरा होने पर गजेंद्र चौहान ने एक टीवी न्यूज चैनल से कहा कि 9 जून 2015 को जब मेरी नियुक्ति हुई थी तो मेरा कार्यकाल चार मार्च 2014 से गिना गया। उन्होंने कहा कि चेयरमैन के कार्यकाल को उस तारीख से गिना जाता है, जिस तारीख पर पिछला चेयरमैन रिटायर होता है।

चौहान ने कहा कि मेरी नियुक्ति 19 महीने की रही, लेकिन मुझे काम करने का मौका सिर्फ 14 महीने का मिला। मैंने 7 जनवरी 2016 को ज्वाइन किया और 3 मार्च को मेरा कार्यकाल खत्म हो गया।

सोशल मीडिया पर भी गजेंद्र चौहान को लेकर तरह-तरह के कमेंट किए जा रहे हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here