न्यायपालिका को अपनी हद में रहना चाहिए, जजों के साथ दोस्ती के चलते डाॅक्टर्स अपने ट्रांसफर रुकवा लेते हैं

0
केंद्र सरकार में परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को महाराष्ट्र मेडिकल काउंसिल की ओर से आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि न्यायपालिका को अपनी हद में रहना चाहिए, जजों के साथ दोस्ती के चलते डाॅक्टर्स अपने ट्रांसफर रुकवा लेते हैं।
आगे बोलते हुए नितिन गडकरी ने कड़े लहजे में कहा कि कुछ डाॅक्टरों के जिला और हाईकोर्ट में दोस्त हैं। इनसे वे अपने ट्रांसफर रूकवा लेते हैं और कोर्ट मेडिकल काॅलेजों के कामकाज में कमियां निकालते हैं व सरकार के कामकाज की भी निंदा करते हैं।
यह बात सही नहीं है। मेडिकल काउंसिल के इस कार्यक्रम में देश के विभिन्न विभागों से जुड़े डाॅक्टर्स मौजूद थे। गडकरी ने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट मेडिकल काॅलेज नहीं चला सकते। न्यायपालिका और सरकारी प्रशासन को अपनी सीमाओं में काम करना चाहिए।’
उन्होंने इंडियन मेडिकल काउंसिल पर भी निशाना साधते हुए कहा कि ,’ यह देखा जा रहा है कि एमसीआई मेडिकल कॉलेजों के कामकाज में गलतियां निकालती है। इससे उनका विकास रूकता है। भारत में सरकारी डाॅक्टरों की कमी है। एमसीआई को इन कॉलेजों को अपनी समस्याएं दूर करने के लिए समय देना चाहिए।’

LEAVE A REPLY