डोकलाम में चीन ने बनाए सैन्‍य छावनी और हैलीपैड, सैटेलाइट तस्‍वीरों से हुआ खुलासा

0

पिछले दिनों भारतीय सेना के दखल के बाद डोकलाम इलाके में सड़क बनाने में नाकाम रही चीनी सेना ने एक बार फिर अब नए सिरे से काम शुरू कर दिया है। भारत और चीन के बीच कई महीनों तक विवाद का केंद्र रहे डोकलाम इलाके में चीन सैन्‍य शिविर और हैलीपैड सहित अन्य निर्माण कर रहा है।

PHOTO: NDTV

NDTV के मुताबिक नई सैटेलाइट तस्‍वीरों में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि चीन विवादित इलाके में सैन्‍य छावनी बना रहा है। बता दें कि सिक्किम के पूर्व में स्थित डोकलाम में 5 महीने पहले 73 दिनों तक दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने थी।

NDTV के पास मौजूद सैटेलाइट से प्राप्‍त तस्‍वीरों से स्‍पष्‍ट है कि जिस इलाके पर भुटान अपना दावा करता है, उसी इलाके के अंदर चीन निर्माण कार्य कर रहा है। नई तस्‍वीरों में विवादित क्षेत्र में ईस्‍ट-वेस्‍ट रोड के किनारे कई सैन्‍य संरचनाएं दिख रही हैं।

NDTV के पास मौजूद इस तस्‍वीर में पूरा विवादित डोकलाम इलाका दिखता है। इसमें बायीं तरफ सिक्किम के डोका ला स्थित भारतीय पोस्‍ट है, जबकि पूर्व की ओर डोकलाम और चीन के बीच स्थित सिंचे ला दर्रा (पास) है। उत्तर की ओर चीन का गैरविवादित इलाका है जिसे चुम्‍बी वैली के नाम से जाना जाता है।

सैन्‍य परिसर उस सड़क की तस्‍वीर में दिख रहे हैं, जिन्‍हें चीन पिछले कुछ सालों से बना रहा है। यह सिक्किम में भारतीय पोस्‍ट से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। तस्वीरों में चीन के एक अन्‍य निर्माण स्‍थल पर खाइयां देखी जा सकती हैं। सभी स्‍थानों पर सैन्‍य संरचनाओं और परिसरों को देखा सकता है।

वहां दो हेलीपैड भी (H के निशान के साथ) साफ साफ देखे जा सकते हैं। हालांकि इन तस्‍वीरों में तोपें नहीं दिख रहीं, लेकिन ऐसे इलाके भी दिख रहे हैं जहां तोपें लगाई जा सकती हैं। चीन द्वारा इस इलाके में तोपाखाने की गितिविधियों को लेकर भारत हमेशा सावधान रहा है।

वहीं नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन डोकलाम क्षेत्र के उत्तरी हिस्से में 7 हेलीपैड बना चुका है। हथियारों से लैस वाहन भी उसने इस क्षेत्र में तैनात कर रखे हैं। सैनिकों की मौजूदगी से कुछ दूरी पर भारी मात्रा में सड़क बनाने वाली सामग्री भी मौजूद है।

रिपोर्ट के मुताबिक डोकलाम के कई इलाकों में बड़ी संख्या में चीनी टैंक भी मौजूद हैं। वहां पर सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें, टैंक्स, आर्मर्ड वीइकल्स, ऑर्टिलरी सहित कई अन्य सैन्य उपकरणों की मौजूदगी पाई गई है। कुछ जगहों पर बड़ी संख्या में हथियारों की तैनाती देखी जा सकती है।

73 दिन बाद समाप्त हुआ था विवाद

गौरतलब है कि पिछले साल 16 जून को चीनी सैनिकों के डोकलाम में भूटान की सीमा पर अतिक्रमण का भारतीय सैनिकों ने जोरदार विरोध किया था। इस दौरान दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प भी हुई थी और दोनों ने बड़ी संख्या में इस इलाके में अपने सैनिक तैनात कर दिए थे। हालांकि 73 दिन बाद यह तनातनी 28 अगस्त 2018 को समाप्त हो गई थी। इस दौरान दोनों देशों की ओर से कहा गया था कि वह इलाके में शांति और स्थिरता के लिए बातचीत करेंगे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here