पूर्व वित्त मंत्री और BJP के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का AIIMS में निधन, लंबे समय से थे बीमार

0

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का शनिवार (24 अगस्त) को निधन हो गया। बता दें कि, अरुण जेटली सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी बढ़ने पर 9 अगस्त से दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती हुए थे। लेकिन अस्पताल में भर्ती होने के बाद उनकी हालत लगातार बिगड़ती चली गई।

अरुण जेटली
फाइल फोटो

एम्स ने एक बयान जारी कर कहा है कि वे बेहद दुख के साथ सूचित कर रहे हैं कि 24 अगस्त को 12 बजकर 7 मिनट पर माननीय सांसद अरुण जेटली अब हमारे बीच में नहीं रहे। अरुण जेटली को 9 अगस्त को एम्स (AIIMS) में भर्ती कराया गया था। एम्स के वरिष्ठ डॉक्टर उनका इलाज कर रहे थे। बता दें कि, एम्स ने 10 अगस्त के बाद से जेटली के स्वास्थ्य पर कोई बुलेटिन जारी नहीं किया था।

देखिए लाइव अपडेट :

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर पीएम मोदी ने जताया शोक, पत्नी और उनके बेटे से की बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर शोक जताया है। पीएम मोदी ने अरुण जेटली की पत्नी और बेटे से बात की है। दोनों ने पीएम से अपना विदेश दौरा छोड़कर नहीं आने का आग्रह किया है।

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने अरुण जेटली को दी श्रद्धांजलि

कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने ट्वीट कर पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, अपने दोस्त और दिल्ली यूनिवर्सिटी के सीनियर के निधन पर बेहद दुखी हूं। हम सबसे पहले तब मिले थे, जब वह दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ में थे और मैं सेंट स्टीफन्स कॉलेज यूनियन का अध्यक्ष था। राजनीतिक मतभेद के बावजूद हम एक दूसरे का सम्मान करते थे और लोकसभा में बजट पर बहस करते थे।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अरुण जेटली के निधन पर शोक जताया

अरुण जेटली के निधन के बाद अपना दौरा छोड़ दिल्ली वापस लौट रहे उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू

हमारे दो बड़े नेताओं का एक के बाद हमे छोड़ जाना सभी के लिए वज्राघात जैसा है: नितिन गडकरी 

अरुण जेटली के निधन पर शोक जताते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट कर कहा, “निशब्द हूं, अरुण जी को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। देश को उनकी कमी हमेशा खलेगी। राज्यसभा में पक्ष और विपक्ष में रहते उनके दिए भाषण हमेशा चिरन्तन रहेंगे।” उन्होंने आगे कहा, “हमारे दो बड़े नेताओं का एक के बाद हमे छोड़ जाना सभी के लिए वज्राघात जैसा है। अरुण जी की दिवंगत आत्मा को शांति मिले यही प्रार्थना। ॐ शांतिः”

अरुण जेटली के निधन पर सीएम योगी ने जताया दुख

अरुण जेटली के निधन पर शोक जताते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा, “श्री अरुण जेटली जी का जाना देश और समाज की ऐसी अपूरणीय क्षति है जिसकी रिक्तता का अहसास हम लंबे समय तक करते रहेंगे। ईश्वर से प्रार्थना है कि पुण्यात्मा को वे अपने श्री चरणों में स्थान दें और परिजनों को इस अपार दुःख को सहन करने की शक्ति दें। ॐ शांति।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “देश के प्रख्यात विधिवेत्ता एवं पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली जी के निधन की खबर से स्तब्ध हूं। जेटली जी छात्र जीवन में ही भाजपा से जुड़े, आपातकाल के ख़िलाफ़ आवाज मुखर की एवं आजीवन सकारात्मक राजनीति के साथ माँ भारती की सेवा करते रहे।”

अरुण जेटली जी के निधन से अत्यंत दुःखी हूं, उनका जाना मेरी व्यक्तिगत क्षति है: अमित शाह

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर शोक जताते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, “अरुण जेटली जी के निधन से अत्यंत दुःखी हूँ, जेटली जी का जाना मेरे लिये एक व्यक्तिगत क्षति है। उनके रूप में मैंने न सिर्फ संगठन का एक वरिष्ठ नेता खोया है बल्कि परिवार का एक ऐसा अभिन्न सदस्य भी खोया है जिनका साथ और मार्गदर्शन मुझे वर्षो तक प्राप्त होता रहा।”

अरुण जेटली जी के निधन से बहुत दुखी हूं: राजनाथ सिंह

अरुण जेटली के निधन पर सीएम केजरीवाल ने जताया दुख

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर कांग्रेस ने जताया शोक

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर कांग्रेस पार्टी शोक प्रकट किया है। कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा कि श्री अरुण जेटली का निधन सुनकर हमें गहरा दुख हुआ है। उनके परिवार के प्रति हमारी संवेदना। दुःख के इस समय में हमारे विचार और प्रार्थनाएं उनके साथ हैं।

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद हैदराबाद से दिल्ली लौट रहे हैं गृह मंत्री अमित शाह

बता दें कि जेटली पिछले करीब 2 साल से बीमार चल रहे हैं, वह सॉफ्ट टिशू कैंसर से पीड़ित हैं। किडनी संबंधी बीमारी के बाद पिछले साल मई में उन्हें किडनी प्रत्यारोपित की गई थी। लेकिन किडनी की बीमारी के साथ-साथ जेटली कैंसर से भी जूझ रहे हैं। उनके बायें पैर में सॉफ्ट टिशू कैंसर हो गया है जिसकी सर्जरी के लिए जेटली इसी साल जनवरी में अमेरिका भी गए थे। अरुण जेटली ने पिछली मोदी सरकार में वित्त मंत्रालय के साथ-साथ कुछ समय के लिए रक्षा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाली थी। बीमारी की वजह से इस बार वह मोदी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here