#MeToo: सुहेल सेठ पर फिल्मकार और पत्रकार सहित चार महिलाओं ने लगाए यौन शोषण के गंभीर आरोप, वायरल हुआ व्हाट्सऐप स्क्रीनशॉट

0

देश भर में चल रहे ‘मी टू’ अभियान के तहत हर रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं l देश में जारी ‘मी टू’ अभियान की लहर गुरुवार (11 अक्टूबर) को भी जारी रही और बॉलीवुड के शोमैन सुभाई घई, लेखक-निर्देशक पीयूष मिश्रा, फिल्ममेकर साजिद खान और लेखक सुहेल सेठ भी निशाने पर आए। कामकाज की जगह पर होने वाले यौन शोषण के खिलाफ चल रही इस मुहिम का गुरुवार को भी कई लोगों ने समर्थन किया, इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ने अपने साथी मंत्री एम जे अकबर से उनपर लगे यौन शोषण के आरोपों पर चुप्पी तोड़ने को कहा।

तनुश्री दत्ता के यौन उत्पीड़न के आरोपों की शिकायत के बाद गुरुवार को मुंबई पुलिस ने नाना पाटेकर, कोरियोग्राफर गणेश आचार्य सहित अन्य दो के खिलाफ जांच शुरू की। समाज में जोर पकड़ रहे ‘मी टू अभियान’ का एक प्रकार से समर्थन करते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को कहा कि इस बारे में आवाज उठाने वालों को इंसाफ मिलना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि इस तरह की आवाज उठाने वाली महिलाओं का उपहास नहीं उड़ाया जाना चाहिए।

ईरानी ने अपने मंत्रिमंडल सहयोगी एम जे अकबर के खिलाफ लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों पर गुरुवार को कुछ कहने से इनकार कर दिया। लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि उन महिलाओं के साथ इंसाफ होना चाहिए जो अपनी बात रख रही हैं। वहीं, बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा और कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने मामले पर कुछ भी कहने से मना कर दिया।बीजेपी नेता अकबर अभी विदेश दौरे पर हैं। उनके रविवार को वापस लौटने की संभावना है। उन्होंने अभी तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

सुहेल सेठ पर चार महिलाओं ने लगाए यौन शोषण के गंभीर आरोप

इस बीच ‘मी टू’ अभियान के तहत अब चार महिलाओं ने कमेंटेटर और मशहूर लेखक सुहेल सेठ पर भी यौन शोषण के आरोप लगाए हैं। इसमें से एक महिला नाबालिग थी जब उसका यौन शोषण किया गया। हालांकि, सुहेल ने इन आरोपों को गलत बताया है। फिल्ममेकर नताशजा राठौर ने बताया कि मैं सुहेल से एक पार्टी में मिली जहां मेरे बॉस ने मुझे उनसे हाय करने को कहा। इसके बाद वह मुझे अपने घर ले गए। वहां सुहेल ने मुझे चूमने की कोशिश की और गंदी हरकते करने लगे।

बुधवार को 27 वर्षीय नताशजा राठौर ने ने सोशल मीडिया पर वॉट्स ऐप मैसेज के स्क्रीनशॉट पोस्ट किए जिसमें उन्होंने घटना का आरोप लगाते हुए इसी हफ्ते सुहेल सेठ को भेजा था। यह घटना पिछले साल गुरुग्राम में घटी थी। इस संदेश में उन्होंने लिखा है, ‘मेरे विरोध करने के बावजूद आपने मुझे जबरदस्ती किस किया था। मैंने आपसे कहा था कि तमीज से पेश आइए। नशे की हालत में आपने अपना हाथ मेरे कुर्ते में डाल दिया था।’

वहीं, बुधवार को ही इंडियन एक्सप्रेस में काम कर चुकीं 33 वर्षीय पत्रकार मंदाकिनी गहलोत ने सुहेल सेठ इसी तरह के आरोप लगाए। एक के बाद एक कई ट्वीट कर मंदाकिनी ने सुहेल के महिलाओं के साथ अनुचित रवैये के बारे में बताया है।ट्विटर पर मंदाकिनी ने लिखा, ‘साल 2011 में गोवा में एक कार्यक्रम के बाद जब मैं सब लोगों को गुड बाय कर रही थी तो मैं उनसे मिलकर वापस लौटना चाह रही थी, लेकिन बिना मेरी सहमति के जबरन उन्होंने मेरे होंठो पर किस किया। मैं अवाक रह गई। मैंने उनसे कहा कि सुहेल आप ऐसा नहीं कर सकते।’

इससे पहले बीते मंगलवार को मुंबई की एक 26 वर्षीय महिला ने भी इसी तरह का अनुभव ट्विटर पर साझा किया। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में उन्होंने कहा कि सुहेल ने साल 2010 में उन्हें आपत्तिजनक मैसेज भेजा था। उस समय वह सिर्फ 17 साल की थीं। अनजान महिला ने व्हाट्सऐप स्क्रीनशॉट शेयर किया है। कथित तौर पर यह घटना अगस्त 2010 की है। ट्विटर पर एक अज्ञात महिला, जिसका ट्विटर प्रोफाइल अनिशा शर्मा है, उसने एक व्हाट्सप्प के मैसेज का स्क्रीन शॉट शेयर किया है।

महिला ने लिखा है कि ये मेरा किसी के साथ का चैट है। जिसमें मुझे पता चला था कि सुहेल सेठ ने किसी 17 वर्षीय महिला को साथ में शराब पीने के लिए ऑफर दिया था। अनिशा शर्मा के कहा कि मैं 17 साल की थी और मैं ट्विटर पर सुहेल सेठ को फॉलो करती है। मैंने उनका इंटरव्यू लेना चाहती थी। एक दिन मैंने सुहेल सेठ को लैंड एंड की कॉफी शॉप में देखा। जब मैं बाहर निकल रही थी। बाद में, मैंने उन्हें यह कहने के लिए ट्वीट किया कि मैंने उन्हे देखा था।

जबकि, मुंबई की 31 वर्षीय एक अन्य महिला ने भी नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि वह सुहेल सेठ से पिछले साल एक प्रसिद्ध रेस्टोरेंट और बार में मिली थीं। उन्होंने बताया, ‘वह मेरे पिता को अच्छी तरह से जानते थे और मैं उनसे एक बार दिल्ली में अपने पिता के साथ मिल चुकी थी। मेरे पिता अब इस दुनिया में नहीं हैं। रेस्टोरेंट में मिलने के दौरान बातचीत में सुहेल सेक्स और आॅनलाइन डेटिंग की बात करने लगे। फिर उन्होंने अपना हाथ कमर पर रख दिया। उनकी ये हरकत ने काफी तकलीफदेह थी।’

‘मी टू’ अभियान ने पकड़ा जोर

आपको बता दें कि भारत में जारी ‘मी टू’ अभियान (यौन उत्पीड़न के खिलाफ अभियान) तूल पकड़ता जा रहा है। कई अन्य महिलाएं अपने अनुभवों को सार्वजनिक तौर पर शेयर कर रही हैं। अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा मशहूर अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाए जाने के बाद अब अलग-अलग इंडस्ट्री की बाकी हस्तियों ने भी अपने साथ हुए यौन दुर्व्यवहार के खिलाफ आवाज उठानी शुरू कर दी है।

नाना पाटेकर के बाद जहां डायरेक्टर विकास बहल, मशहूर सिंगर कैलाश खेर, प्रसिद्ध लेखक चेतन भगत, अभिनेता रजत कपूर, मॉडल जुल्फी सैयद, फिल्मों और टीवी जगत के ‘संस्कारी बाबू’ यानी अभिनेता आलोक नाथ सहित ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ (एचटी) के ब्यूरो प्रमुख और राजनीतिक संपादक प्रशांत झा, रघु दीक्षित, कमेंटेटर सुहेल सेठ और महिला कॉमिक स्टार अदिति मित्तल, बॉलीवुड के शोमैन सुभाई घई, फिल्ममेकर साजिद खान और लेखक-निर्देशक पीयूष मिश्रा भी ‘मी टू’ की चपेट में आए हैं, जिनपर यौन उत्पीड़न, बदसलूकी, गलत तरीके से छूने जैसे आरोप लगे हैं।

फिल्म इंडस्ट्री से ‘मी टू’ अभियान की शुरुआत होने के बाद इसकी चपेट में मीडिया जगत भी आ गया है और इसकी लपटें मोदी सरकार के एक मंत्री को अपने लपेटे में ले रही हैं। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, अपने समय के मशहूर संपादक व वर्तमान में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एम.जे. अकबर पर 6 वरिष्ठ महिला पत्रकारों ने पूर्व संपादक और विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर यौन उत्पीड़न और अनुचित व्यवहार के आरोप लगाए हैं।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here