पूर्व IAS अधिकारी शाह फैसल की नजरबंदी PSA के तहत तीन महीने तक के लिए बढ़ाई गई

0

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने विवादास्पद जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत पूर्व भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी शाह फैसल की नजरबंदी की अवधि तीन महीने तक के लिए बढ़ा दी है।

शाह फैसल

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के बाद से नजरंबद रहे फैसल पर गत फरवरी में पीएसए लगाया गया था। समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि, बुधवार को फैसल की नजरबंदी की अवधि समाप्त होने के कुछ ही घंटे पहले इसे विस्तार दिया गया।

पूर्व आईएएस की नजरबंदी की अवधि तीन महीने के लिए बढ़ाई गई है, जिसे पहले एक वर्ष के लिए और फिर दो वर्ष तक के लिए विस्तार दिया जा सकता है। फैसल को पिछले वर्ष 13-14 अगस्त की मध्यरात्रि को इस्तांबुल की उड़ान में सवार होने से पहले दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रोककर वापस श्रीनगर ले जाया गया था, जहां उन्हें नजरबंद किया गया।

बता दें कि, भारतीय प्रशासिनक सेवा से इस्तीफा देने के बाद जम्मू-कश्मीर के पूर्व नौकरशाह शाह फैसल ने जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट पार्टी का गठन किया था। प्रशासन ने पिछले माह पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को पीएसए से रिहा कर दिया था। जबकि एक अन्य पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती वर्तमान में पीएसए में निरुद्ध चल रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here