राजस्थान चुनाव से पहले BJP को बड़ा झटका! पूर्व विधायक हनुमान बेनीवाल ने बनाई नई पार्टी

0

दिसंबर में होने वाले राजस्थान विधानसभा चुनाव से ठीक पहले राज्य में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को एक और बड़ा झटका लगा है। बीजेपी के बागी और खींवसर से निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने सोमवार(29 अक्टूबर) को जयपुर में हुंकार रैली के मंच से अपनी नई राजनीतिक दल की घोषणा की।

राजस्थान

बेनीवाल ने पार्टी का नाम ‘राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी’ रखा है और इसका चुनाव चिन्ह बोतल रखा गया है। इसके साथ ही उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव में तीसरे मोर्चे की संभावनाओं को हवा देते हुए कहा कि वह कांग्रेस-बीजेपी के विरोधी सभी दलों के साथ गठबंधन बनाने की कोशिश करेंगे।

हिन्दुस्तान.कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, जयपुर के मानसरोवर इलाके में आयोजित ‘किसान हुंकार महारैली में लोगों को संबोधित करते हुए बेनीवाल ने कहा, प्रदेश में (आगामी चुनाव में) परिवर्तन निश्चित है और एक बड़ी पार्टी तो तीसरे स्थान पर जाएगी। वह पार्टी कांग्रेस होगी या बीजेपी यह आने वाले कुछ दिनों में तय हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि नई पार्टी के लिए पांच बड़े मुद्दों में किसानों को पूर्ण कर्ज माफी, मुफ्त बिजली, सरकारी सेवाओं में खाली पड़े चार लाख पदों को भरना, युवाओं को 10,000 रुपये का बेरोजगारी भत्ता, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों का कार्यान्वयन व मजबूत लोकपाल का गठन है।

उन्होंने कहा, दिल्ली के धन्नासेठों के तीन लाख करोड़ रुपये माफ हो सकते हैं तो प्रदेश के किसानों के 82,000 करोड़ रुपये के कर्ज की पूर्ण माफी भी हो सकती है।

बेनीवाल की इस रैली में मंच पर बीजेपी के बागी नेता व भारत वाहिनी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी, राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी तथा समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य संजय लाठर सहित अनेक नेता मौजूद थे।

बता दें कि अभी हाल ही में बीजेपी से नाता तोड़ने वाले बाड़मेर जिले में शिव सीट से विधायक एवं पूर्व सांसद मानवेंद्र सिंह बुधवार(17 अक्टूबर) को कांग्रेस में शामिल हो गये थे। दिल्ली में राहुल गांधी के घर पर उन्हें कांग्रेस की सदस्यता दिलाई गई थी। अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र ने बीजेपी और वसुंधरा राजे से नाराज़गी के बाद 22 सितंबर को पार्टी से औपचारिक रूप से नाता तोड़ लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here