J&K: शोपियां में हिज्बुल कमांडर और आतंकवाद का रास्ता पकड़ने वाले कश्मीर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर सहित 5 आतंकी ढेर, 2 जवान घायल

0

जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों ने रविवार (6 मई) को बड़ी कामयाबी हासिल की है। सुरक्षाबलों ने हिज्बुल के शीर्ष कमांडर सद्दाम पादर और आतंकवाद का रास्ता पकड़ने वाले उसके साथी कश्मीर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर मोहम्मद रफी बट्ट सहित पांच आतंकियों को मार गिराया है। हालंकि इस मुठभेड़ में सेना और पुलिस के एक-एक जवान घायल हो गए। बता दें कि इस मुठभेड़ में आर्मी, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस ने ज्वांइट अॉपरेशन चलाया था।

File Photo: AP

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मारे गए इन आतंकियों में हिजबुल मुजाहिदीन के कई टॉप कमांडर भी शामिल हैं। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने हिजबुल के शीर्ष कमांडर सद्दाम और उसके दो साथियों बिलाल मौलवी और आदिल समेत 5 आतंकियों मार गिराया है। इनमें हाल ही में आतंकवाद का रास्ता पकड़ने वाले कश्मीर यूनिवर्सिटी के प्रफेसर मोहम्मद रफी भी शामिल हैं। एक अन्य आतंकी की पहचान अभी उजागर नहीं हो सकी है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी एसपी वैद्य ने बताया है कि मुठभेड़ में 5 आतंकी मारे गये हैं। कुछ दिन पहले ही प्रोफेसर बट्ट आतंकवाद में शामिल हो गए थे। जिस समय सुरक्षाबलों ने इनके खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया वह हिजबुल कमांडर सद्दाम पाडेर से चुपचाप मुलाकात कर रहे थे। फिलहाल सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जारी मुठभेड़ खत्म हो गई है।एसपी वैद, डीजीपी, जम्मू कश्मीर ने एंकाउंटर खत्म होने के बाद जवानों को बधाई देते हुए कहा, ‘वेल डन बॉएज’।

पुलिस ने बताया कि माना जा रहा है कि मारे गए आतंकवादियों में हिज्बुल मुजाहिदीन का शीर्ष कमांडर सद्दाम पैडर भी शामिल है लेकिन अधिकारियों का कहना है कि इन सभी की पहचान होने के बाद ही इसकी पुष्टि की जा सकेगी। पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने ट्वीट किया, “बडीगाम जैनापुरा शोपियां में मुठभेड़ खत्म हुई, पांचों आतंकवादियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। शाबाश बहादुरों- सेना/सीआरपीएफ/जम्मू-कश्मीर पुलिस।”

इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना पर सुरक्षा बलों द्वारा दक्षिणी कश्मीर जिले के जैनापुरा इलाके के बडीगाम गांव में घेराबंदी और तलाश अभियान शुरू करने के बाद यह मुठभेड़ शुरू हुई। माना जा रहा है कि मारे गए आतंकवादियों में शुक्रवार को लापता हुआ कश्मीर यूनिवर्सिटी का एक प्रोफेसर भी शामिल है। मध्य कश्मीर के गंदेरबल जिले के चुंदिना इलाके का निवासी रवि भट यूनिवर्सिटी के सोशियोलॉजी विभाग में अनुबंध के आधार पर बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर नियुक्त था, जिसके आतंकवादी समूह में शामिल होने की खबरें थीं।

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक एस पी पाणी ने भाषा को बताया, “खबर थी कि वहां घेरे गए आतंकवादियों में भट भी शामिल था।” उन्होंने बताया कि पुलिस गंदेरबल से उसके परिवार को साथ लेकर आई थी ताकि वह आत्मसमर्पण कर दे।प्रोफेसर के गायब होने के बाद यूनिवर्सिटी में कल जमकर विरोध प्रदर्शन किए गए जिसके बाद कुलपति ने पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर उनसे भट को ढूंढ निकालने का हर संभव प्रयास करने का आग्रह किया।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here