प्रयागराज: पहले शाही स्नान पर संतों के साथ लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी, देखिए तस्वीरें व वीडियो

0

मकर संक्रांति पर अखाड़ों के नागा साधुओं के शाही स्नान के साथ ही कुम्भ मेला मंगलवार से प्रारंभ हो गया। कड़कड़ाती ठंड में सुबह पांच बज कर करीब 45 मिनट पर श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी और पंचायती अटल अखाड़ा के नागा साधु-सन्यासी अपने लाव-लश्कर के साथ संगम पहुंचे और संगम में डुबकी लगाई।

शाही स्नान

अटल अखाड़ा के बाद श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा और तपोनिधि श्री पंचायती आनंद अखाड़ा के नागा साधु संतों से शाही स्नान किया। निरंजनी अखाड़ा में सोमवार को महामंडलेश्वर बनीं केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण राज्यमंत्री निरंजन ज्योति ने भी शाही स्नान किया।

नागा सन्यासियों का शाही स्नान देखने भारी तादाद में लोग संगम क्षेत्र में मौजूद थे। साधु-संतों की टोली के आगे घोड़े पर सवार पुलिसकर्मी थे और मार्ग के दोनों तरफ पुलिस लोगों की भीड़ को नियंत्रित कर रही थी। अलग-अलग अखाड़ों के अलावा लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं के बीच बड़ी-बड़ी हस्‍तियां संगम के तट पर स्नान कर रहे हैं।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, आनंद अखाड़ा के शाही स्नान के बाद नागा साधुओं के सबसे बड़े अखाड़े श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा, श्री पंच दशनाम आवाहन अखाड़ा और श्री शंभू पंच अग्नि अखाड़ा के साधु सन्यासियों ने शाही स्नान किया। जूना अखाड़ा में सैकड़ों की संख्या में नागा साधु सन्यासी शामिल थे और इस अखाड़े का लश्कर सबसे बड़ा था।

जूना अखाड़े के लश्कर में नागा साधुओं के पीछे अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि जी महाराज का रथ था और इनके पीछे जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विश्वंभर भारती जी महाराज का रथ था। सभी अखाड़ों को बारी-बारी से स्नान के लिए आधे से पौन घंटे का समय दिया गया था। सुबह का तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से कम होने के बावजूद बड़ी तादाद में लोग गंगा और संगम में डुबकी लगा रहे थे जिसमें बुजुर्ग भी शामिल थे।

भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, मेला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि सुबह 7 बजे तक करीब 12 लोगों ने गंगा और संगम में स्नान किया। वहीं 11 बजे तक यह आंकड़ा 67 लाख पहुंच गया। दिन में धूप खिलने से पवित्र संगम में स्नान करने वालों की संख्या शाम तक एक करोड़ के पार पहुंचने का अनुमान है।

मेलाधिकारी विजय किरण आनंद ने बताया कि अखाड़ों के सानिंध्य में आज शाही स्नान की परंपरा संपन्न हो रही है। यहां सुरक्षा और साफ-सफाई की व्यवस्था दुरुस्त की गई है। सभी श्रद्धालुओं को साधु संतों के अच्छे से दर्शन हों, हमने यह प्रयास किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई दिग्गज नेताओं ने कुंभ पर देश को हार्दिक शुभकामनाएं दी। पीएम मोदी ने ट्वीटर पर एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “प्रयागराज में आरंभ हो रहे पवित्र कुम्भ मेले की हार्दिक शुभकामनाएं। मुझे आशा है कि इस अवसर पर देश-विदेश के श्रद्धालुओं को भारत की आध्यात्मिक, सांस्कृतिक एवं सामाजिक विविधताओं के दर्शन होंगे। मेरी कामना है कि अधिक से अधिक लोग इस दिव्य और भव्य आयोजन का हिस्सा बनें।”

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मकर संक्रांति पर दी बधाई। मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर लिखा, “प्रयागराज कुम्भ में मकर संक्रांति के अवसर पर प्रथम शाही स्नान के लिए आने वाले समस्त संत, महात्माओं, धर्माचार्यों एवं श्रद्धालुओं को हार्दिक शुभकामनाएं। हम सभी श्रद्धालुओं को सुविधा, सुरक्षा एवं श्रद्धा-भक्ति से आप्लावित माहौल उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने भी संगम तट पर आस्था की डुबकी लगाई। उन्होंने गंगा स्‍नान की फोटो शेयर करते हुए अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘हर हर गंगे।’ कुम्भ के पहले दिन हेलीकॉप्टर द्वारा श्रद्धालुओं पर फूल बरसाए जा रहे हैं। शाही स्नान का पुण्य लाभ लेने के लिए लोगों का रेला रविवार देर रात से ही यहां उमड़ पड़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here