समाचार पोर्टल पर ‘फर्जी खबर’ चलाने का आरोप, संपादक के खिलाफ केस दर्ज

0

अपनी बहन से संबंधित एक ‘फर्जी खबर’ फैलाने के चलते गुवाहाटी विश्वविद्यालय की एक रिसर्च स्कॉलर के भाई ने गुवाहाटी स्थित वेब पोर्टल ‘इनसाइड एनई’ के संपादक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। फर्जी खबर में कहा गया था कि रिसर्च स्कॉलर ने बीफ का सेवन किया है।

Fake News on a smartphone is being read.

समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि कामरूप जिले के बोको पुलिस स्टेशन में रिसर्च स्कॉलर रेहाना सुल्ताना के भाई रफीकुल इस्लाम ने ‘इनसाइड एनई’ की संपादक अफरीदा हुसैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई। इस्लाम ने अपनी प्राथमिकी में कहा, “न्यूज पोर्टल एक स्क्रीनशॉट को सर्कुलेट कर रहा है, जिसमें वह दावा कर रहा है कि यह मेरी बहन ने ईद के मौके पर 12 अगस्त को पोस्ट किया है।” रफीकुल इस्लाम ने कहा, “यह दावा झूठा है और धार्मिक आधार पर समाज में अशांति पैदा करने के इरादे से बनाया गया है।”

पोर्टल ने इस झूठी खबर को जारी करते हुए अपने कैप्शन में लिखा ‘गुवाहाटी यूनिवर्सिटी गर्ल रिलेट्स इटिंग बीफ विद जॉय ऑफ पाकिस्तान’ पोर्टल ने इस खबर में कहा, “अभद्र भाषा और असंवेदनशीलता के अन्य रूपों के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्मो के इस्तेमाल के बीच गुवाहाटी विश्वविद्यालय की एक रिसर्च स्कॉलर ने खतरे की घंटी बजाई है।”

समाचार में लिखा गया लड़की ने ईद के मौके पर अपने फेसबुक पर लिखा, “आज, हम भी बीफ खाकर पाकिस्तान की खुशी में शरीक होंगे! मैं क्या खाऊंगी यह मेरे स्वाद पर निर्भर करता है। हालांकि, ‘बीफ’ के वर्जित विषय के बारे में बात करके अपने आप को विवाद का विषय न बनाएं।”

रफीकुल इस्लाम ने कहा कि उसकी बहन ने यह पोस्ट 2017 में भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच के संदर्भ में लिखी थी।इस्लाम ने कहा कि भारत के मैच हारने और विराट कोहली के जीरो पर आउट होने के चलते उसकी बहन दुखी थी, जिसके कारण उसने व्यंगपूर्ण पोस्ट लिखी।

उस समय बीफ खाए जाने की बात और लोगों द्वारा ऐसे व्यक्तियों को मारे जाने की बात सामने आ रही थी, इसलिए उससे संदर्भित होकर उसकी बहन ने यह पोस्ट किया। इस्लाम ने कहा कि उसके दोस्तों द्वारा पोस्ट पर आपत्ति जताए जाने के बाद उसने पोस्ट को तुरंत डिलीट कर दिया और मामले को लेकर एक स्पष्टीकरण भी जारी किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here