बिहार: पूर्णिया में RJD के पूर्व नेता शक्ति मलिक की हत्या के मामले में तेजस्वी और तेजप्रताप समेत 6 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज

0

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पूर्णिया में दलित नेता की हत्या के मामले में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव समेत 6 लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। बता दें कि, केहाट थाना इलाके में रविवार सुबह नकाबपोश अपराधियों ने दलित नेता शक्ति मलिक के घर में घुसकर गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ने इस मामले में तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव समेत कुल 6 लोगों के खिलाफ केहाट थाने में एफआईआर दर्ज किए जाने की पुष्टि की है।

बिहार
फाइल फोटो: सोशल मीडिया

केहाट थानाध्यक्ष सुनील कुमार मंडल ने बताया कि मृतक की पत्नी खुशबू देवी के बयान के आधार पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव, आरजेडी एससी-एसटी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार साधु पासवान, मनोज, सुनीता और कालो पासवान के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि मलिक की पत्नी ने राजनीतिक साजिश के तहत अपने पति की हत्या किए जाने का आरोप लगाया और कई नेताओं के नाम लिए।

शक्ति मलिक की रविवार तड़के सुबह 3 नकाबपोश अपराधियों ने घर में घुस कर गोलियों से भूनकर हत्या कर दी और फिर वहां से फरार हो गए। शक्ति मलिक की पत्नी ने पुलिस से बताया कि उनके पति आरजेडी से निकाले जाने के बाद एक निदर्लीय उम्मीदवार के रूप में विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे। हाल ही में बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी आरजेडी से निष्कासित कर दिए गए मलिक पड़ोसी जिले अररिया के रानीगंज विधानसभा से चुनाव लड़ने की तैयारी में थे।

बिहार में सत्ताधारी जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने आरोप लगाया कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी लगातार दलितों, पिछड़ों, वंचितों की बात करते हैं लेकिन एक वीडियो वायरल हुआ है और वही नेता प्रतिपक्ष की असलियत है। उन्होंने कहा कि रानीगंज विधानसभा क्षेत्र के राजनीतिक कार्यकर्ता शक्ति मलिक की हत्या हो गई जिन्होंने टिकट के लिए कुछ दिन पहले तेजस्वी यादव पर पैसों के लेनदेन का आरोप लगाया था। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here