कांग्रेस का प्रचार करने के आरोप में पहलवान नरसिंह यादव के खिलाफ FIR दर्ज

0

मुंबई में कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में कथित रूप से प्रचार करने को लेकर नामी पहलवान और सहायक पुलिस आयुक्त नरसिंह यादव के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस अधिकारी ने मंगलवार (23 अप्रैल) को इसकी जानकारी दी।
मुंबई पुलिस के मुताबिक मुंबई उत्तर-पश्चिम लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार संजय निरूपम के लिए प्रचार करने के आरोप में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीत चुके पहलवान नरसिंह यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। बता दें कि यादव पुलिस विभाग के एक कर्मचारी भी हैं।

File Photo: Indian Express

नरसिंह यादव पर आरोप है कि उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार संजय निरुपम का प्रचार किया। यादव ने मुंबई उत्तर-पश्चिम लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाले यादवनगर इलाके में रविवार रात निरूपम के लिए प्रचार किया था। इस सीट से शिवसेना के मौजूदा सांसद गजानन किर्तिकर के खिलाफ निरूपम चुनावी मैदान में हैं। एक अधिकारी ने बताया कि यादव (40) के खिलाफ अम्बोली पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि यादव मुंबई पुलिस के सशस्त्र संभाग में तैनात हैं और उन्होंने रविवार (21 अप्रैल) को कांग्रेस उम्मीदवार संजय निरूपम के प्रचार अभियान में कथित रूप से हिस्सा लिया था। निरूपम मुंबई उत्तर-पश्चिम से चुनाव मैदान में हैं। उन्होंने बताया कि चुनावकर्मियों ने राज्य के निर्वाचन कार्यालय में इस संबंध में रिपोर्ट भेजी। इसके बाद अम्बोली पुलिस ने सोमवार को जनप्रतिनिधि अधिनियम के तहत यादव के खिलाफ एक मामला दर्ज किया।

अधिकारी ने बताया कि 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता यादव को विभागीय कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में जन्मे यादव ने वर्ष 2010 में नई दिल्ली में हुए एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में पुरुषों की फ्रीस्टाइल 76 किलोग्राम भारवर्ग की कुश्ती स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था। इसके बाद उन्होंने वर्ष 2011 में मेलबर्न में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक और 2015 में लॉस वेगास में विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक तथा दोहा और इंचियान में हुए एशियाई खेलों में भी कांस्य पदक अपने नाम किया था।

साल 2016 में डोपिंग मामले में फंसने के बाद यादव पर चार साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था। इसके चलते वह रियो ओलंपिक में भाग नहीं ले सके थे। पिछले चुनावों के नतीजे बताते हैं कि यहां शिवसेना मजबूत है, लेकिन मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष रहते हुए संजय निरूपम ने जो लोकप्रियता पाई है और जुझारू नेता की छवि बनाई है वह उन्हें कितना वोट दिला पाएगी यह देखने वाली बात होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here