रामदेव के विवादित “सिर काटने के” बयान पर एफआईआर दर्ज

1

भारत माता की जय के मुद्दे पर विवादित बयान देने पर योग गुरु बाबा रामदेव के खिलाफ हैदराबाद के मीरपुर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया है। मीरपुर पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 295ए के तहत मामला दर्ज किया गया हैै।

कुछ समय पहले रोहतक में आयोजित एक सद्भावना समारोह में बाबा रामदेव ने ओवैसी का नाम लिए बिना कहा था कि कुछ लोग टोपी पहन कर खड़े हो जाते हैं और कहते हैं कि चाहे सिर काट दें, लेकिन भारत माता की जय नहीं बोलेंगे। उन्हें ये नहीं पता कि कानून से हाथ बंधे हैं, नहीं तो लाखों सिर धड़ से अलग कर देते।

Also Read:  हिन्दुस्तान की मीडिया को किसान नहीं, मोदी जी के 2-4 दोस्त चलाते हैं: राहुल गांधी

बाबा रामदेव पर भारतीय दंड संहिता की धारा 295 ए के अर्तगत् जानबूझकर या दुर्भावना से धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाला कृत्य करना के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने मेडिकल काॅलेज के छात्र मोहम्मद बिन उमर की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया है।

Also Read:  CWC मीटिंग में बोले राहुल गांधी: मोदी सरकार को सत्ता का नशा, असहमति रखने वाले सभी लोगों को वह चुप करा देना चाहते हैं

सहायक पुलिस आयुक्त एम श्रीनिवास राव ने बताया कि उमर ने अपनी शिकायत में कहा कि उसने यूट्यूब पर एक वीडियो क्लिप देखा है। जिसमें रामदेव एक खास समुदाय को धमकी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में हम मामले में आगे की जांच कर रहे हैं।

Also Read:  फडणवीस की टिप्पणियों से जुड़े पोस्टरों पर भाजपा नाराज

1 COMMENT

  1. सोनिका क्रांतिवीर shared Himanshu Kumar’s post.
    3 hrs ·

    Himanshu Kumar
    12 hrs ·
    लेधा का नाम पहली बार कब सुना था, पता नहीं,

    लेकिन कल्लूरी का नाम जब मैंने पहली बार सुना था वो याद है।

    मैं कल्लूरी को जीवन भर नहीं भूल सकता।

    जब मैं पत्रकारिता का विद्यार्थी हुआ करता था तो पता चला पुण्य प्रसून वाजपेयी को प्रिंट का रामनाथ गोयनका अवार्ड मिला है।

    जिस रिपोर्ट पर ये पुरस्कार मिला था उसके केंद्र में लेधा थीं।

    सरगुजा की लेधा को गर्भवती हालात में पुलिस उठाकर ले गई थी।

    कई बलात्कार सहने के बाद उसने जेल में ही बच्चे को जन्म दिया।

    बाद में पुलिस ने लेधा के पति को सरगुजा के बीच गांव में गोली मारी और एक बार फिर उठाकर जेल ले गए और फिर-फिर बलात्कार किया।

    पुलिस ने लेधा को तहस-नहस कर दिया।

    और इस पुलिस का नेतृत्व संभाल रहे थे कल्लूरी,

    जिसने थाने में लेधा को नंगा किया था, बलात्कार किया और करवाया था।

    आज के दिन कल्लूरी को राष्ट्रपति पुरस्कार से नवाजा गया , आइए 26 जनवरी मनाएं।

    Dilip Khan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here