क्यूबा की कम्युनिस्ट क्रान्ति के नायक फिदेल कास्त्रो का निधन

0

क्यूबा के महान क्रांतिकारी और पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो का राजधानी हवाना में निधन हो गया। वह 90 साल के थे। क्यूबा में मौजूदा राष्ट्रपति एवं फिदेल के भाई राउल कास्त्रो ने ट्वीट कर यह जानकारी दी व इसके अलावा राज्य के टेलीविजन पर उनके निधन की जानकारी दी। फिदेल कास्त्रो क्यूबा के राष्ट्रपति और पीएम दोनों रह चुके थे।

Also Read:  विनोद खन्ना के निधन की अफवाह से सोशल मीडिया पर प्रशंसकों में छाई निराशा

fidel-castro

Congress advt 2

कास्त्रों ने लगभाग 50 साल तक क्यूबा की सत्ता संभाली। उसके बाद 2008 में उन्होंने अपने भाई राउल को आगे कर दिया। बताया जा रहा है कि वह पिछले काफी समय से आंत की बीमारी से पीड़ित थे। फिदेल अप्रैल महीने से सार्वजनिक तौर पर नहीं देखा गया था। कहा जा रहा है कि उनकी सेहत के बारे में आधिकारिक तौर पर गोपनीयता रखी गई थी।

Also Read:  अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप आज रात प्रधानमंत्री मोदी से करेंगे फोन पर बात

13 अगस्त, 1926 को जन्मे कास्त्रो को क्यूबा में कम्युनिस्ट क्रांति का जनक माना जाता है और उन्होंने 49 साल तक क्यूबा में शासन किया था। वह फरवरी 1959 से दिसंबर 1976 तक क्यूबा के प्रधानमंत्री और फिर फरवरी 2008 तक राष्ट्रपति रहे। इसके बाद उन्होंने स्वास्थ्य कारणों से राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दे दिया और उनके भाई राउल कास्त्रो को यह पदभार मिला।

Also Read:  शत्रुघ्न सिन्हा बोले- 'यशवंत सिन्हा एक सच्चे नेता हैं, उन्होंने सरकार को आईना दिखाया है'

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here