उत्तर प्रदेश: गरीबी से मजबूर शख्स ने गर्भवती पत्नी की इलाज के लिए बेटे को बचने का किया प्रयास, पुलिस ने उठाया इलाज का खर्च

0

गरीबी इंसान से क्या-क्या करा सकती है, इसका अंदाजा किसी को नहीं होता। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश से सामने आया है जिसे पढ़ने के बाद भावुक हो जाएंगे।

up polls

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कन्नौज के सौरिख थानाक्षेत्र के बरेठी दारापुर निवासी अरविंद बंजारा अपनी गर्भवती पत्‍‌नी का इलाज कराने जिला अस्पताल पहुंचा था। सात माह का गर्भ होने के कारण महिला की हालत बेहद नाजुक थी। उनकी एक चार वर्ष की एक बेटी रोशनी और एक साल का बेटा जानू है। अरविंद ने आरोप लगाया कि जिला अस्पताल में प्रसव कराने के बदले नर्सों ने उससे 25 हजार रुपये की मांग की। पैसे न होने पर वह पत्नी को लेकर मेडिकल कालेज पहुंचा, जहां महिला की नाजुक हालत देखकर चिकित्सकों ने भर्ती नहीं किया।

गरीबी से परेशान शख्स ने अपनी गर्भवती पत्नी को अस्पताल में भर्ती कराने और उसका इलाज कराने के लिए अपने बेटे जानू को बेंचने का फैसला किया। पत्नी और बच्चों के साथ मेडिकल कालेज के गेट पर आकर एक युवक से सौदा करने लगा। अरविंद ने पत्नी और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की जान बचाने के लिए 30 हजार रुपये में बच्चे को बेंचने की बात कही, लेकिन खरीददार 25 हजार रुपये देने को राजी हो गया।

रिपोर्ट के मुताबिक, लेकिन जैसे ही खरीददार अपनी पत्नी से बच्चे को खरीदने की राय लेने घर चला गया। तभी कुछ लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। घटना को सूचित मिलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और पिता को अपना बच्चा बेचने से रोका। जब पुलिस ने परिवार की हालत जानी तो पहले बीमार महिला को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया और फिर महिला के इलाज का पूरा खर्च खुद उठाने की बात कही।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, पुलिस ने कहा स्थानिय लोगों ने इसके बारे में हमें जानकारी दी। सूचना पाकार मौके पर पहुंची पुलिस ने उसकी गर्भवती पत्नी इलाज के लिए अस्पताल में न केवल भर्ती कराया बल्कि उसे पैसों की भी व्यवस्था करके दी। पुलिस ने बताया की वे लोग बहुत गरीब हैं और हमने सुनिश्चित किया है कि हम उसका इलाज कराएंगे।

बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश के बरेली जिला के मीरगंज इलाके में पति के इलाज के खातिर एक महिला ने अपने 15 दिन के मासूम बच्चे को 45,000 रुपए में बेच दिया था। यह मामला तब सामने आया था जब पड़ोसियों ने बच्चा गायब देखकर दंपति से उसके बारे में पूछा।

बता दें कि, पहले त्रिपुरा के तेलियामुरा के महारानीपुर में एक व्यक्ति ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर मात्र 200 रुपये के लिए अपनी 8 महीने की बच्ची को बेच दिया था। पूछने पर व्यक्ति ने बताया कि उसने गरीबी के चलते ऐसा कदम उठाया है।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here