बराक ओबामा की शिकागो में फेयरवेल स्पीच, आखिरी भाषण में भावुक होकर रो पड़े

0

अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर बराक ओबामा ने बुधवार (11 जनवरी) को शिकागो में अपना आखिरी भाषण दिया। विदाई भाषण में ओबामा ने कहा कि अमेरिका अभी भी चीन और रूस से कहीं आगे हैं। आठ साल तक अमेरिका के राष्ट्रपति रहे बराक ओबामा ने आखिरी बार अपने देश के लोगों को संबोधित किया।

बराक ओबामा

उन्होंने कहा कि घर आकर अच्छा लग रहा है। वाइट हाउस की बजाय शिकागो से अपना भाषण देने पर ओबामा ने कहा कि वो और मिशेल वापस वहीं लौटना चाहते थे जहां से यह सब शुरु हुआ था। अपने राजनीतिक करियर का आरम्भ ओबामा ने शिकागो से ही किया था। रंगभेद पर अपने विचार रखते हुए ओबामा ने कहा कि अब स्थिति में काफी सुधार है जैसे कई सालों पहले हालात थे अब वैसे नहीं हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फेयरवेल स्पीच में ओबामा ने कहा कि मिशेल और मुझे पिछले कुछ हफ्तों से शुभकामनाएं मिल रही हैं। आज मैं शुक्रिया कहना चाहता हूं। हर दिन मैंने आपसे सीखा। आप लोगों ने मुझे बेहतर राष्ट्रपति और इंसान बनाया।

बेहद भावूक होते हुए ओबामा ने पत्नी मिशेल और बेटियों का जिक्र किया तो वह रो पड़े। ओबामा ने कहा बीते 25 सालों से तुम सिर्फ मेरी बीवी और मेरे बच्चों की मां नहीं बल्कि मेरी बेस्ट फ्रेंड बनी। तुमने मुझे गर्व महसूस कराया तुमने देश को गर्व महसूस कराया। मालिया और साशा का जिक्र करते हुए ओबामा ने कहा मैंने जिंदगी में जो भी किया लेकिन सबसे ज्यादा गर्व तुम दोनों के पिता होने का है।

ओबामा ने वाइस प्रेसिडेंट जो बिडने के लिए कहा कि आप ही मेरी पहली पसंद थे। मैंने आपमें एक अच्छा वाइस प्रेसिडेंट नहीं, बल्कि भाई पाया। अंत में ओबामा ने कहा कि मैं यकीन के साथ कहना चाहता हूं कि मुझमें बदलाव लाने की क्षमता नहीं है लेकिन आप लोगों में है। हां, हम कर सकते हैं। हां, हमने किया। इन्हीं शब्दों के साथ उन्होंने अपने आखिरी सम्बोंधन को समाप्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here