‘स्पीड ब्रेकर’ के जवाब में ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को बताया ‘एक्सपायरी बाबू’

0

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार (3 अप्रैल) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘एक्सपायरी बाबू’ कहा। बता दें कि तृणमूल सुप्रीमो का यह पलटवार पीएम मोदी द्वारा सिलीगुड़ी और कोलकाता में बीजेपी की रैली के दौरान किए गए हमलों के बाद आया है। इससे पहले पीएम मोदी ने उन्हें प्रदेश के विकास में एक ‘स्पीड ब्रेकर’ कहा था।

Photo: The Financial Express/PTI

बनर्जी ने कूच बिहार जिले में एक चुनावी सभा में कहा, “मैं उन्हें प्रधानमंत्री नहीं कहूंगी, वह एक्सपायरी बाबू हैं क्योंकि उनकी सरकार एक्सपायरी डेट को पार कर चुकी है।” पीएम मोदी ने इससे पहले सिलीगुड़ी में अपने भाषण में कहा था कि बनर्जी सरकार ने गरीबों के लिए कुछ नहीं किया है, जिसपर मुख्यमंत्री ने कहा, “आप पहले यह जवाब दीजिए कि आपकी सरकार ने क्या किया है।”

उन्होंने कहा, “मैं मोदी नहीं हूं, मैं झूठ नहीं बोलती हूं। मोदी ने मेरी सरकार के प्रदर्शन के बारे में झूठे दावे किए।” प्रधानमंत्री मोदी का ‘एक्सपायरी बाबू’ और ‘एक्सपायरी पीएम’ के रूप में मजाक उड़ाते हुए ममता ने उन्हें टीवी पर या जनसभा में खुली बहस करने की चुनौती दी।

टीएमसी प्रमुख ने कहा ‘ मैं मोदी नहीं हूं, मैं झूठ नहीं बोलती’। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कार्यों को लेकर झूठ बोला है। उन्होंने दावा किया कि मोदी के शासनकाल में देश में 12,000 किसान खुदकुशी कर चुके हैं। बता दें कि लोकसभा चुनाव प्रचार से पहले भी ममता बनर्जी प्रधानमंत्री मोदी पर तमाम तरह के आरोप लगाती रही हैं।

इससे पहले प्रधानमंत्री ने बुधवार को सिलिगुड़ी में तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी पर पश्चिम बंगाल के विकास में ‘स्पीड ब्रेकर’ होने का आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य की बेहतरी के लिए उन्हें जाना होगा। प्रधानमंत्री ने चुनाव की घोषणा के बाद ममता बनर्जी के गढ़ में पहली रैली करते हुए उनपर आरोप लगाया, “दीदी (ममता बनर्जी) पश्चिम बंगाल के विकास में गतिरोधक हैं।”

उन्होंने आरोप लगाया कि ममता ने गरीबों के उत्थान से जुड़ी केंद्र की कई योजनाओं को रोक दिया है। मोदी ने कहा कि ‘गतिरोधक दीदी’ ने पश्चिम बंगाल के लोगों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं लेने दिया। प्रधानमंत्री ने कहा, “मैं चाहता हूं कि यह गतिरोधक हट जाए ताकि विकास को गति मिल सके।”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here