मुंबई: आरे में पेड़ों की कटाई को लेकर विरोध प्रदर्शन के बाद इलाके में धारा 144 लागू, प्रियंका चतुर्वेदी समेत कई हिरासत में

0

मुंबई पुलिस ने आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई को लेकर हुए प्रदर्शनों के बीच शनिवार सुबह पूरी कॉलोनी और उसके आसपास के इलाकों में धारा 144 लागू कर दी। बॉम्बे हाई कोर्ट के आरे से जुड़ी याचिकाओं को खारिज करने के बाद शुक्रवार रात से ही पेड़ काटने का काम शुरू हो गया था। लेकिन, जैसे ही पेड़ों की कटाई का काम शुरू हुआ तो स्थानिय लोगों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने देर रात इन लोगों को हिरासत में ले लिया, जिसमें कई महिलाएं भी शामिल है।

मुंबई

आरे और उसके आसपास भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है। पुलिस यहां से गुजरने वाले हर आदमी को रोक रहें है और पूछताछ के बाद ही उन्हें आगे जाने दिया जा रहा है।

उच्च न्यायालय ने उत्तरी मुम्बई में हरित क्षेत्र आरे कॉलोनी में पार्किंग बनाने के लिए पेड़ों की कटाई का विरोध करने वाले पर्यावरण कार्यकर्ताओं की याचिकाएं खारिज कर दी थीं, जिसके बाद मुंबई मेट्रो रेल निगम लिमिटेड ने शुक्रवार देर रात पेड़ों की कटाई शुरू कर दी।

पर्यावरण कार्यकर्ताओं और ‘आरे बचाओ’ मुहिम से जुड़े लोगों का कहना है कि, “इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। किसी को भी आरे कॉलोनी में प्रवेश की अनुमति नहीं है।” पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने प्रशासन की आलोचना करते हुए दावा किया कि अब तक लगभग 200 पेड़ काटे जा चुके हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मेट्रो निगम 10 अक्टूबर से पहले काम खत्म करना चाहता है। इसी दिन राष्ट्रीय हरित अधिकरण में मामले की सुनवाई होनी है।

पर्यावरण कार्यकर्ता स्टालिन डी ने कहा, “एनजीटी दस अक्टूबर को इस मामले में सुनवाई करेगा और हमें वहां से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। लेकिन ऐसा प्रतीत होता कि प्राधिकारी सुनवाई से पहले ही पेड़ों की कटाई का काम खत्म करना चाहते हैं।”

गौरतलब है कि मेट्रो कार शेड के लिए बीएमसी ने आरे के करीब 2700 पेड़ों की कटाई को हरी झंडी दी थी जिसके खिलाफ अलग-अलग याचिकाएं कोर्ट में दायर की गई थीं। हालांकि, शुक्रवार को बॉम्बे हाई कोर्ट ने यह कहकर याचिकाओं को खारिज कर दिया कि मामला पहले की सुप्रीम कोर्ट और एनजीटी के सामने लंबित है, इसलिए हाई कोर्ट इसमें फैसला नहीं दे सकता।

कोर्ट का फैसला आते ही पेड़ों की कटाई होने से न सिर्फ राज्य की भारतीय जनता पार्टी सरकार से विपक्षी दल नाराज हैं, बल्कि गठबंधन सहयोगी शिवसेना ने भी तीखा हमला बोला है। आरे कॉलोनी जंगल प्रोटेस्ट मामले में शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी को मुम्बई पुलिस ने हिरासत में लिया है।

बता दें कि शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने भी इस मामले में केंद्र सरकार की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने लिखा- ‘जिस तरह से मुंबई मेट्रो का काम चोरी-छिपे और तेजी से आरे के ईकोसिस्टम को काटकर किया जा रहा है वह शर्मनाक और घटिया है। कई पर्यावरण प्रेमियों और स्थानीय शिवसेना सदस्यों ने इसे रोकने की कोशिश की। जिस तरह से पुलिस तैनात करके पेड़ काटे जा रहे हैं, मुंबई मेट्रो हर उस बात को खराब कर रही है जो भारत ने संयुक्त राष्ट्र में कही।’

कांग्रेस नेता प्रिया दत्त ने भी विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों का साथ देते हुए एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि आज का दिन तथाकथित विकास की, बेहतर जीवन स्तर और पर्यावरण के संरक्षण के ऊपर जीत की तरह है। रात के अंधेरे में पेड़ों को काटा गया। यह प्रकृति की हत्या की तरह है और सब को इसका खामियाजा भुगतना होगा। भगवान मुंबई की मदद करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here