उत्तर प्रदेश: दाढ़ी को हाथ लगाने से नाराज सिख ड्राइवर ने पुलिसकर्मियों पर तान दी तलवार, वीडियो वायरल

0

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें दो सरदार ट्रक ड्राइवर यूपी पुलिस के साथ तीखी बहस करते हुए नजर आ रहे हैं। इसी बीच एक पुलिसकर्मी ने सिख समुदाय के युवक की दाढ़ी में हाथ लगा दिया, जिसको लेकर विवाद खड़ हो गया और फिर सरदार ने अपनी तलवार निकालकर कर पुलिसकर्मियों पर तान दी।

सिख

वीडियो में सिख युवक आरोप लगा रहे हैं कि पुलिसवालों ने उनकी दाढ़ी खींची। इस पूरी घटना को वहां से जा रहे किसी युवक ने अपने कैमरे में कैद कर लिया, जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वहीं, वीडियो वायरल होने के बाद इस पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुस्से में अपनी प्रतिक्रिया दी है। वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए अमरिंदर सिंह ने गलत पुलिस वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह वीडियो शामली-मुजफ्फरनगर बॉर्डर का बताया जा रहा है। यहां की कोतवाली क्षेत्र के लाख गांव के पास यह घटना हुई। कहा जा रहा है कि ट्रक लेकर जा रहे दो सिख युवकों के पीछे पुलिस की गाड़ी आ रही थी। पुलिस का आरोप है कि बार-बार हॉर्न बजाने के बाद भी युवकों ने पुलिस की जीप को साइड नहीं दी।

सिख युवकों का आरोप है कि जब तक वे पुलिस जीप को साइड देते पुलिसवालों ने उनके ट्रक को ओवरटेक करके रोक लिया। उन्हें जबरन ट्रक के बाहर खींचने का प्रयास किया। इसी बीच उनमे से एक पुलिसवाले ने सिख युवक की दाढ़ी खींच ली तो नाराज़ ड्राइवर ने ट्रक से तलवार निकाल ली।

वीडियो में दिख रहा है कि पुलिसवाले और सिख युवक की बहस हो रही थी। इतने में पुलिस युवक की तरफ बढ़ती है तो वह एक पुलिसवाले को धक्का देता है। दूसरा पुलिसवाला उसकी दाढ़ी पकड़ता है तो सिख युवक गुस्से में तिलमिला जाता है। वह कहता है दाढ़ी में हाथ मत लगाना। वह दौड़कर ट्रक में रखी अपनी तलवार निकाल लेता है।

वहीं इस वीडियो पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री ने लिखा, ”इस घटना को घटिया और शर्मनाक बताया है। उन्होंने गलत पुलिस वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। मुख्यमंत्री के इस ट्वीट पर यूपी पुलिस ने भी अपने आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल से अपनी प्रतिक्रिया दी है।

यूपी पुलिस ने लिखा, सर, हमें पूरी घटना पर अफसोस है। संबंधित पुलिसकर्मी को निलंबित किया जा रहा है और पूरी घटना की जांच एसपी रैंक के अधिकारी करेंगे। यूपी पुलिस सभी नागरिकों की धार्मिक भावनाओं का सम्मान करने के लिए प्रतिबद्ध है और इस तरह के व्यवहार को कभी भी क्षमा नहीं किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here