कोरोना वायरस पर ‘झूठी’ खबरों के आरोप में अंग्रेजी समाचार पोर्टल का संस्थापक गिरफ्तार

0

कोरोना वायरस (COVID-19) राहत कार्यों को लेकर स्थानीय प्रशासन और सरकार के खिलाफ ‘‘झूठी’’ और ‘‘उकसावे’’ वाली खबरें देने के आरोप में एक अंग्रेजी समाचार पोर्टल के संस्थापक को कोयंबटूर में गिरफ्तार किया गया है।

कोरोना वायरस
प्रतीकात्मक तस्वीर

समाचार एजेंसी पीटीआई की रपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि ‘सिम्प्लिसिटी’ पोर्टल चलाने वाले एंड्रयू सैम राजापांडियन को शहर के एक नगर निगम अधिकारी की शिकायत पर गुरुवार को गिरफ्तार किया गया और एक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया जहां उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

कोयंबटूर के माकपा सांसद पी आर नटराजन ने राजापांडियन की गिरफ्तारी की निंदा की है। कोयंबटूर और तिरुपुर के पत्रकार संघों ने गिरफ्तारी की निंदा करते हुए कहा कि यह प्रेस की स्वतंत्रता के खिलाफ है। पुलिस ने कहा कि पोर्टल के खिलाफ बुधवार को भारतीय दंड संहिता की धारा 189 और महामारी रोग कानून की धारा तीन के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने बताया कि इससे पहले पोर्टल के एक पत्रकार और फोटोग्राफर से मामले के संबंध में चार घंटों से अधिक समय तक पूछताछ की गई। प्राथमिकी के अनुसार पोर्टल ने ऐसी खबरें दी थी कि कोरोना वायरस से निपटने में शामिल सरकारी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों और कर्मचारियों को पर्याप्त भोजन नहीं दिया गया और जन वितरण प्रणाली के तहत कर्मचारी गरीबों के लिए निर्धारित राहत कोष में गबन कर रहे हैं।

पोर्टल सरकार के खिलाफ टि्वटर, व्हाट्सएप और फेसबुक समेत विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर ‘‘पूरी तरह से झूठी’’ खबरें पोस्ट कर रहा था। प्राथमिकी के अनुसार ये खबरें ‘‘उकसावे’’ वाली है और कर्मचारियों को सरकार के खिलाफ कर सकती है तथा पीडीएस गतिविधियों को बाधित कर सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here