शाहीन बाग फायरिंग: आरोपी का AAP के साथ संबंध बताने वाले DCP राजेश देव पर चुनाव आयोग ने की कार्रवाई

0

दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी तेज है। इस बीच, चुनाव आयोग दिल्ली क्राइम ब्रांच के डीसीपी राजेश देव को शाहीन बाग इलाके में हुई फायरिंग मामले की जांच को लेकर उनकी टिप्पणी पर चेताया है। चुनाव आयोग ने इस मामले में दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र भी लिखा है। चुनाव आयोग ने राजेश देव को दिल्ली से जुडे किसी भी चुनाव कार्य में न लगाए जाने का आदेश दिया है।

शाहीन बाग

दिल्ली पुलिस के डीसीपी राजेश देव के खिलाफ कड़ा संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने बुधवार (5 फरवरी) को कहा कि उनका बयान ‘‘पूरी तरह अवांछित’’ था और उन्हें चुनावी कार्य से रोक दिया गया है। उन्होंने मीडिया के साथ जांच का ब्यौरा साझा किया था जिसमें शाहीन बाग के शूटर का संबंध आम आदमी पार्टी से दिखाया गया था। चुनाव आयोग ने कहा कि राजेश देव के व्यवहार से ‘‘स्वतंत्रत एवं निष्पक्ष चुनाव कराने पर असर पड़ेगा।’’

बता दें कि, देव ने मंगलवार की रात को संवाददाताओं से कहा था कि पिछले सप्ताह दक्षिणी दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल पर गोलियां चलाने वाला कपिल बैसला आम आदमी पार्टी (आप) का सदस्य है, इतना ही नहीं कपिल के पिता गजे सिंह गुर्जर भी आप से जुड़े हुए हैं। दिल्ली पुलिस के इस खुलासे के बाद भाजपा और आप में वाकयुद्ध छिड़ गया। इसके बाद आम आदमी पार्टी ने पुलिस अधिकारी के खिलाफ चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया।

बता दें कि, दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने मंगलवार की रात को कहा कि पिछले सप्ताह दक्षिणी दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल पर गोलियां चलाने वाला कपिल बैसला आम आदमी पार्टी (आप) का सदस्य है, इतना ही नहीं कपिल के पिता गजे सिंह गुर्जर भी आप से जुड़े हुए हैं। पुलिस को पूछताछ के दौरान आरोपी कपिल के फोन से कई तस्वीरें मिली हैं जिनमें आप जॉइन करने से जुड़ी तस्वीर भी है।

बता दें कि, कपिल गुर्जर ने बीते एक फरवरी को शाहीन बाग पहुंचकर प्रदर्शन स्थल के पास अचानक पिस्टल निकालकर हवा में फायरिंग की थी। गोली चलते ही यहां हड़कंप मच गया था। हालांकि, मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों और प्रदर्शनकारियों ने उसे दबोच लिया था। चश्मदीदों के अनुसार उसने ‘हिंदू राष्ट्र जिंदाबाद’ के नारे लगाते हुए हवाई फायरिंग की।

बता दें कि, दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर आठ फरवरी को मतदान होगा और 11 फरवरी को मतगणना होनी है। दिल्ली में मुख्य मुकाबला आम आदमी पार्टी (आप) और केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच है। हालांकि, कांग्रेस की स्थिति भी पिछले चुनाव के मुकाबले मज़बूत लग रही है। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here