चुनाव आयोग के शख्स निर्देश, कहा- ‘राजनीतिक दल चुनाव प्रचार में सशस्त्र बलों की कार्रवाइयों का जिक्र न करें’

0

चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक दलों से चुनाव प्रचार के दौरान सैनिकों की तस्वीरों का इस्तेमाल करने से बचने के परामर्श को विस्तारित करते हुए कहा है कि चुनाव प्रचार में कोई भी राजनीतिक दल ‘सैन्य अभियानों’ का किसी भी प्रकार से जिक्र करने से बचे। बता दें कि इससे पहले भी चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक पार्टियों से अपने चुनाव अभियान में सैनिकों और सैन्य अभियानों की तस्वीर का इस्तेमाल करने से बचने को कहा था।

bribing

एक बार फिर मंगलवार को जारी परामर्श में आयोग ने प्रचार अभियान में सैन्यकर्मियों की तस्वीर के अलावा सैन्य अभियानों से जुड़ी तस्वीरों का भी इस्तेमाल करने से बचने को कहा है। आयोग के प्रधान सचिव नरेंद्र एन बुतोलिया द्वारा जारी परामर्श में कहा गया है कि राजनीतिक दल और उम्मीदवार विज्ञापन और प्रचार में सैनिकों और सैन्य अभियानों की तस्वीरों का इस्तेमाल करने से बचें।

आयोग ने इस बारे में गत नौ मार्च को भी परामर्श जारी किया था। इसमें सैन्यकर्मियों की तस्वीरों के इस्तेमाल से बचने की बात कही गई थी। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान में आतंकवादी ठिकानों पर वायु सेना की कार्रवाई के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन की तस्वीर विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा इस्तेमाल करने के बाद आयोग ने यह परामर्श जारी किया था।

नए परामर्श में आयोग ने कहा कि राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों और प्रचार अभियान में जुटे लोगों को न सिर्फ सैनिकों बल्कि सैन्य अभियानों की तस्वीरें भी प्रचार अभियान में शामिल करने से बचना चाहिए। आयोग ने राजनीतिक दलों को चुनाव प्रचार में रक्षा बलों के किसी भी तरह के इस्तेमाल से बचने की सख्त हिदायत दी है।

हाल ही में आयोग ने बीजेपी के दिल्ली में विधायक ओ पी शर्मा को अपने सोशल मीडिया अकांउट से विंग कमांडर अभिनंदन की तस्वीर इस्तेमाल करने के आरोप में कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here