पीएम मोदी ने महाराष्ट्र की रैली में नहीं किया आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन: चुनाव आयोग

0

आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोपों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनाव आयोग की तरफ से क्लीन चिट मिल गई है। चुनाव आयोग ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 अप्रैल को महाराष्ट्र के वर्धा में दिए अपने भाषण में आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया। बता दें कि, इस भाषण में उन्होंने कांग्रेस पर ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द का उपयोग करने का आरोप लगाया था।

चुनाव आयोग
फाइल फोटो

महाराष्ट्र के वर्धा में चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी ने कहा था, वे किसी भी दिशा में भाग सकते हैं, लेकिन कांग्रेस कभी भी इस पाप से खुद को बाहर नहीं कर सकती है। यहां तक ​​कि कांग्रेस ने महसूस किया है कि देश ने इसे दंडित करने का फैसला किया है। यही कारण है कि उनके नेता युद्ध का मैदान छोड़ रहे हैं। इसलिए कि हिंदू जाग गए हैं। इसलिए वह (राहुल गांधी) एक ऐसी सीट (अमेठी) से लड़ने की हिम्मत नहीं रखते, जहां हिंदू बहुसंख्यक हैं। यही कारण है कि वह एक निर्वाचन क्षेत्र (वायनाड) में शरण लेने के लिए मजबूर है, जहां अल्पसंख्यक, बहुसंख्यक हों, क्योंकि कांग्रेस हिंदुओं से डरती है।

पीएम मोदी के इस बयान पर आपत्ति जताए हुए कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी। इस मामले की सुनवाई के बाद चुनाव आयोग ने कहा, ‘1 अप्रैल को महाराष्ट्र के वर्धा में पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण में आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन की शिकायत के संबंध में आयोग का विचार है कि इस मामले में किसी तरह का उल्लंघन नहीं हुआ।’

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को ही आयोग को कांग्रेस की याचिका पर नोटिस जारी किया, जिसमें आदर्श आचार संहिता का कथित उल्लंघन करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए आयोग को निर्देश देने का आग्रह किया गया था।

कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आयोग इस मामले में आवश्यक आदेश पारित करने के लिए स्वतंत्र है। अदालत इस मामले पर गुरुवार को फिर से सुनवाई करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here