आज हो सकता है लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखों का ऐलान, चुनाव आयोग ने शाम 5 बजे बुलाई प्रेस कॉन्फ्रेंस

0

इस साल होने वाले आम चुनाव 2019 की घोषणा का इंतजार खत्म हो गया है। निर्वाचन आयोग आज यानी रविवार (10 मार्च) शाम को लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर सकता है। भारतीय चुनाव आयोग द्वारा रविवार (10 मार्च) को आगामी लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किए जाने की संभावना है, क्योंकि आयोग ने शाम पांच बजे प्रेस कॉन्फेंस बुलाया है। आयोग के मुताबिक, संवाददाता सम्मेलन शाम पांच बजे विज्ञान भवन के प्लेनरी हॉल में होगा।

चुनाव आयोग
Photo: NDTV

आयोग ने शनिवार को कई चरणों वाले चुनावों की तैयारियों के संबंध में एक समीक्षा बैठक की थी। 2014 के लोकसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा उस वर्ष पांच मार्च को की गई थी। चुनाव की घोषणा की तारीख से आदर्श आचार संहिता लागू हो जाएगी। पिछली बार की ही तरह अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, आंध्र प्रदेश और उड़ीसा के विधानसभा चुनाव भी हो सकते हैं। जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान भी चुनाव आयोग कर सकता है।

इससे पहले चुनाव आयोग पर तारीखों की घोषणा में देरी के आरोप लग रहे हैं। कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान में देरी को लेकर चुनाव आयोग पर निशाना साधा था। विपक्ष का कहना है कि यह देरी इसलिए की जा रही है, ताकि सरकार आचार संहिता लागू होने से पहले कुछ घोषणा कर सके। हालांकि, चुुनाव आयोग के अधिकारियों ने  एनडीटीवी से बातचीत में विपक्ष के आरोपों को खारिज कर दिया है।

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने ट्विटर पर एक आंकड़ा शेयर किया है। इस आंकड़े के मुताबिक, 2004 में अधिसूचना 29 फरवरी, 2009 में अधिसूचना 2 मार्च और 2014 में 5 मार्च को अधिसूचना जारी हुई थी। ऐसे में देखा जाए तो इस बार चुनाव आयोग की अधिसूचना में देरी है। कुरैशी के आंकड़ों के मुताबिक, 2004 में 1 जून, 2009 में 30 मई, 2014 में 3 जून को लोकसभा का कार्यकाल खत्म हुआ था। इस बार 2 जून को लोकसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है।

2004 में चुनाव 20 अप्रैल से लेकर 10 मई के बीच 4 चरणों में, 2009 में 16 अप्रैल से लेकर 13 मई के बीच पांच चरणों में और 2014 में 7 अप्रैल से लेकर 12 मई के बीच नौ चरणों में चुनाव संपन्न हुआ था। मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल तीन जून को समाप्त होना है। लोकसभा चुनाव 7 अप्रैल से 12 मई तक हुआ था। लोकसभा चुनाव 2014 में वोटों की गिनती 16 मई को हुई थी और उस दिन पता चल गया था कि बीजेपी ही सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here