लोकसभा चुनाव: गोवा में मॉक पोलिंग के दौरान 9 में से BJP को मिल गए 17 वोट, शर्मिंदा चुनाव आयोग को बदलना पड़ा EVM का पूरा सेट

0

देश की जनता तीसरे चरण में 117 सीटों के लिए मंगलवार (23 अप्रैल) को अपने मताधिकार का प्रयोग कर रही है।
ये मतदान 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में हो रहे है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में अहमदाबाद के रानिप में एक मतदान केंद्र पर वोट डाला जो गुजरात के गांधीनगर संसदीय क्षेत्र का एक हिस्सा है। लोकसभा चुनाव 7 चरणों में हो रहे हैं। नतीजें 23 मई को घोषित होंगे।

इस चरण की सबसे खास बात यह है कि बीजेपी और कांग्रेस, दोनों मुख्य पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव मैदान में हैं। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। वह गांधीनगर से पार्टी के प्रत्याशी हैं, जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस चरण में केरल के वायनाड संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार हैं। गोवा की 2 लोकसभा सीटों और 3 विधानसभा उपचुनाव सीटों पर मतदान जारी है।

गोवा में मॉक पोल के दौरान हंगामा 

इस बीच गोवा से हैरान करने वाली खबर आ रही है। आम आदमी पार्टी (आप) ने मॉक पोल के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए कहा है कि मॉक पोल के दौरान पता चला कि वोट बीजेपी को ट्रांसफर हो रहे हैं। गोवा में आम आदमी पार्टी के संयोजक इल्विस गोम्स ने मंगलवार को ट्वीट कर इसे शर्म का चुनाव कहते हुए आरोप लगाया कि मॉक पोलिंग के दौरान सबसे ज्यादा 17 वोट बीजेपी को, कांग्रेस को 9 और आम आदमी पार्टी को 8 वोट मिले हैं।

दरअसल, आरोप है कि लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए मतदान शुरू होने से ठीक पहले मॉक पोलिंग के दौरान गोवा में एक ईवीएम में 9 वोटों के कोटे से बीजेपी को 17 वोट प्राप्त हो गए। गोवा के AAP प्रमुख एल्विस गोम्स ने ट्विटर पर यह घोषणा करते हुए बताया कि कैसे मॉक पोलिंग के दौरान बीजेपी को 17 वोट प्राप्त हुए थे, हालांकि छह उम्मीदवारों में से प्रत्येक के पास केवल नौ वोट थे।

उन्होंने लिखा है, शर्म का चुनाव? गोवा में 34 एसी में बूथ नंबर 31 पर 6 उम्मीदवारों में से प्रत्येक के लिए 9 वोटों के साथ मॉक पोल किया गया। कुल गिनती में बीजेपी को 17, कांग्रेस को 9, आप को 8 और IND को 1 मिलता है। उन्होंने चुनाव आयोग के दावों को खोखला बताया है।

इसके बाद गोवा के मुख्य चुनाव अधिकारी ने घोषणा की कि चुनाव आयोग ने मशीन को बदल दिया है। गोवा के सीईओ द्वारा किए गए ट्वीट में लिखा गया है, “ईओएम के संपूर्ण सेट को एसीओ साउथ गोवा की रिपोर्ट के अनुसार एसी 34, पीएस नंबर 31 के लिए बदल दिया गया है।”

इस मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा है कि गोवा में ‘दोषपूर्ण’ ईवीएम भी अन्य वोटों को बीजेपी में स्थानांतरित करती है। क्या ये वास्तव में दोषपूर्ण हैं या इस तरह से प्रोग्राम किए गए हैं?

ईवीएम की शिकायतें सिर्फ गोवा से नहीं आईं। कर्नाटक में जहां शेष 14 सीटों के लिए मतदान हो रहा है वहां के मंत्री प्रियांक खड़गे ने लिखा है कि चित्तपुर में कई ईवीएम खराब हैं। अब तक 20 से अधिक ईवीएम के खराब होने की सूचना दी है। आशा है कि जिला प्रशासन के पास पर्याप्त बैकअप होगा।

इसके अलावा केरल में भी कांग्रेस ने बीजेपी के पक्ष में कथित तौर पर वोट जाने को लेकर शिकायत की है। न्यू इंडियन एक्सप्रेस ने बताया कि राज्य के विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों की व्यापक खराबी की खबरें हैं। कासरगोड में 20 ईवीएम में खराबी हुई, जबकि पांच मशीनों ने कायकुलम में तकनीकी गड़बड़ियां पैदा कीं।

वहीं, उत्तर प्रदेश के रामपुर सहित कई जिलों में ईवीएम की खराबी से मतदान देरी से शुरू हुआ। इस पर लोगों ने नाराजगी जताई। ईवीएम में तकनीकी गड़बड़ियों के चलते संभल और मुरादाबाद के कुछ मतदान केंद्र पर समय से वोटिंग शुरू नहीं हो पाई। उधर, संभल के कैली में ईवीएम में खराबी के चलते मुरादाबाद के देहात में मतदान प्रभावित हुआ।छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के कोटा में बनाए गए आदर्श मतदान केंद्र के दो बूथों क्रमांक 25 और 28 पर मतदान करीब 1 घंटे देरी से शुरू हुआ।

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here