बिहार विधानसभा चुनाव की तरीखों का ऐलान: 28 अक्टूबर से तीन चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, 10 नवंबर को आएंगे नतीजे

0

कोरोना वायरस संकट के बीच बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। इसी क्रम में आज भारत निर्वाचन आयोग (EC) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान कर दिया है। राज्य में तीन चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस करते बताया कि कोविड काल में तीन चरणों में चुनाव कराए जाएंगे। पहला चरण 28 अक्टूबर को होगा, दूसरे चरण का तीन नवंबर और तीसरे चरण का चुनाव सात नवंबर को कराया जाएगा। चुनाव आयोग के अनुसार विधान सभा चुनावों के नतीजों का ऐलान 10 नवंबर को किया जाएगा।

बता दें कि, पहले चरण में जहां 16 जिलों की 71 सीटों पर मतदान होगा तो वहीं दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों पर मतदान किया जाएगा। इसके अलावा तीसरे और अंतिम चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदाता अपने अधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त की बड़ी बातें:

  • तीन चरणों में होंगे बिहार चुनाव 2020
    =पहला चरण में 16 जिलों की 71 सीटों पर वोटिंग
    =दूसरा चरण में 17 जिलों की 94 सीटों पर वोटिंग
    =तीसरा चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर वोटिंग
  • विधानसभा कैंडिडेंट समेत कुल 5 लोग ही डोर टू डोर कैंपेन में शामिल होंगे। 5 से ज्यादा लोग घर जाकर प्रचार नहीं कर पाएंगे
  • सुबह 7 बजे से शाम के 6 बजे तक होगी वोटिंग। मतदान का समय एक घंटा बढ़ा दिया गया है। नामांकन ऑनलाइन भी किया जा सकेगा
  • बिहार विधानसभा चुनाव में कुल 7 करोड़ से ज्यादा मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल कर पाएंगे
  • 7 लाख से ज्यादा हैंड सैनिटाइजर और 46 लाख से ज्यादा मास्क उपलब्ध करवाए जाएंगे
  • 7 लाख हैंड सैनेटाइजर, 6 लाख पीपीई किट्स, 7,6 लाख बेड्सशीट, 23 लाख हैंड ग्लब्स का इंतजाम किया गया है
  • कोरोना के चलते नए सुरक्षा मानकों के तहत चुनाव होंगे। पोलिंग बूथ पर मतदाताओँ की संख्या घटाई जाएगी। एक बूथ पर 1 हजार मतदाता होंगे
  • बिहार चुनाव में इस बार एक लाख से ज्यादा पोलिंग स्टेशन होंगे
  • बिहार में कुल 243 सीटों पर चुनाव होना है। कोरोना के दौर में पहला बड़ा चुनाव होने जा रहा है
  • मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि चुनाव नागरिकों का लोकतांत्रिक अधिकार है। नए सुरक्षा मनकों के तहत चुनाव होना है। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि कोरोना काल में यह सबसे बड़ा चुनाव है। उन्होंने कहा कि एक बूथ पर सिर्फ एक मतदाता होंगे।

बता दें कि, कोरोना काल में विधानसभा चुनाव कराने को लेकर चुनाव आयोग पहले ही गाइडलाइंस जारी कर चुका है। हर मतदान केंद्र पर सिर्फ एक हजार मतदाता ही वोट देंगे। मतदान केंद्रों पर सैनिटाइजर से लेकर सभी तरह की व्यवस्थाएं रहेंगी।

बिहार में कुल 243 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव होगा। 2015 में राजद और जदयू ने मिलकर चुनाव लड़ा था। जिसके कारण भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए को हार का सामना करना पड़ा था। तब राजद, जदयू, कांग्रेस महागठबंधन ने 178 सीटों पर बंपर जीत हासिल की थी। राजद को 80, जदयू को 71 और कांग्रेस को 27 सीटें मिलीं थीं। जबकि एनडीए को 58 सीटें हीं मिली।

हालांकि, लालू यादव की पार्टी राजद के साथ खटपट होने के बाद नीतीश कुमार ने महागठबंधन से अलग होकर भाजपा के साथ सरकार चलाना शुरू किया। 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार एनडीए का चेहरा हैं। बिहार में पिक्षी पार्टियां कोरोना के चलते चुनाव टालने की मांग कर रही थी, लेकिन आयोग ने इस मांग को खारिज कर दिया। वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को खत्म हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here