चुनाव आयोग ने पीएम मोदी के हेलीकॉप्‍टर की तलाशी लेने वाले IAS अधिकारी मोहम्‍मद मोहसिन का निलंबन रद्द किया, ओडिशा से वापस कर्नाटक भेजे गए

1

चुनाव आयोग ने रविवार (21 अप्रैल) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलीकॉप्टर की कथित रूप से जांच करने वाले निलंबित आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन को अपने गृह कैडर में वापस जाने और मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय कर्नाटक को रिपोर्ट करने का आदेश दिया है। ओडिशा में सामान्य पर्यवेक्षक के रूप में तैनात कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन को पिछले दिनों निलंबित कर दिया गया था।

मोहसिन पर ये कार्रवाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉप्टर की जांच करने के बाद की गई थी। हालांकि चुनाव आयोग ने अपने पत्र में 16 अप्रैल को हुई इस घटना का कोई जिक्र नहीं किया था। हालांकि, विवाद बढ़ने के बाद अब चुनाव आयोग ने रविवार को मोहसिन का निलंबन रद्द करते हुए उन्हें ओडिशा से वापस कर्नाटक भेजने का आदेश जारी किया है। आदेश के मुताबिक, कर्नाटक सीईओ के साथ उन्हें अटैच किया गया है।

आयोग की ओर से जारी आदेश में कहा गया था कि कर्नाटक कैडर के 1996 बैच के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन ने एसपीजी सुरक्षा से जुड़े निर्वाचन आयोग के निर्देश का पालन नहीं किया। ओडिशा के संबलपुर में कथित तौर पर उन्होंने पीएम मोदी के हेलीकॉप्टर की चेकिंग की थी। जिला कलेक्टर और पुलिस महानिदेशक की रिपोर्ट के आधार पर आयोग ने संबलपुर के जनरल पर्यवेक्षक को घटना के एक दिन बाद निलंबित किया गया।

चुनाव आयोग के अधिकारियों के मुताबिक, संबलपुर में प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर की जांच करना निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के तहत नहीं था। एसपीजी सुरक्षा प्राप्त लोगों को ऐसी जांच से छूट प्राप्त होती है। चुनाव आयोग के आदेश के अनुसार, कर्नाटक कैडर के 1996 बैच के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन ने एसपीजी सुरक्षा से जुड़े निर्वाचन आयोग के निर्देश का पालन नहीं किया।

1 COMMENT

  1. कें चु आ के पास सारी शक्तियाँ हैं बी जे पी की सेवा के लिए! बी जे पी के विरुद्ध एक्शन लेना हो तो सुप्रीम कोर्ट कहेगा तभी कार्यवाही करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here