लोकसभा चुनाव 2019: मतदान से 48 घंटे पहले जारी करना होगा घोषणापत्र, चुनाव आयोग ने राजनीतिक पार्टियों को दिया आदेश

0

चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों के लिए चुनाव घोषणापत्र जारी करने की समयसीमा निर्धारित करते हुए स्पष्ट कर दिया है कि मतदान से 48 घंटे पूर्व प्रचार थमने के बाद चुनाव घोषणा पत्र जारी नहीं किए जा सकेंगे। आयोग द्वारा शनिवार (16 मार्च) को चुनाव आचार संहिता के नियमों में घोषणापत्र से संबंधित प्रावधानों को जोड़ते हुए कहा गया है कि मतदान से दो दिन पहले तक ही राजनीतिक दल अपने घोषणापत्र जारी कर सकेंगे। प्रचार अभियान थमने के बाद मतदान से 48 घंटे पहले की अवधि में घोषणा पत्र जारी नहीं किया जा सकेगा।

आयोग के प्रमुख सचिव नरेंद्र एन बुतोलिया द्वारा सभी राजनीतिक दलों और राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों को जारी दिशानिर्देश में निर्धारित की गई यह समयसीमा एक या एक से अधिक चरण वाले चुनाव में समान रूप से लागू होगी। बता दें कि 2014 में हुए पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने पहले चरण के चुनाव में मतदान के दिन ही अपना घोषणा पत्र जारी किया था। हालांकि, तब कोई कार्रवाई नहीं हुई थी क्‍योंकि आदर्श आचार संहिता घोषणा पत्र को जारी करने के समय को लेकर कोई जानकारी नहीं देती थी।

बता दें कि लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। पहला चरण 11 अप्रैल को जबकि अंतिम चरण 19 मई को होगा। इस बार 7 चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे और 23 मई को नतीजे आएंगे। चुनाव आयोग के कार्यक्रम के मुताबिक, 11 अप्रैल को पहले चरण में 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों पर वोट डाले जाएंगे। दूसरे चरण में 18 अप्रैल को 13 राज्यों की 97 सीटों के लिए मतदान होगा। तीसरे चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे।

जबकि चौथे चरण में 29 अप्रैल को नौ राज्यों की 71 सीटों के लिए मतदान होगा। पांचवें चरण में छह मई को सात राज्यों की 51 लोकसभा सीटों पर मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। छठा चरण 12 मई को होगा जिसमें सात राज्यों की 59 लोकसभा सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे। सातवें चरण का मतदान 19 मई को होगा जिसमें आठ राज्यों की 59 सीटों के लिए वोटिंग होगी। सभी सीटों पर मतगणना एक साथ 23 मई को होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here