हाईकोर्ट ने NSUI प्रत्याशी रॉकी तुसीद को चुनाव लड़ने की दी इजाजत, DU ने रद्द कर दिया था नामांकन

0

दिल्ली हाई कोर्ट ने कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी रॉकी तुषीद को दिल्ली विश्वविद्यालय(डीयू) में होने वाले छात्र संघ चुनावों में अध्यक्ष पद के लिए शुक्रवार(8 सितंबर) को चुनाव लड़ने की अनुमति दे दी है। बता दें कि इस पद के लिए उनका नामांकन खारिज कर दिया गया था।

(Sushil Kumar/HT Photo)

न्यूज एजेसी भाषा के मुताबिक, न्यायमूर्ति इंद्रमीत कौर ने तुसीद को अंतरिम आदेश में राहत देते हुए 12 सितंबर को होने जा रहे चुनावों में प्रत्याशी बनने की अनुमति दी। अदालत ने उनकी मुख्य याचिका को 28 सितंबर के लिए सुनवाई हेतु रखा, जिसमें अनुशासनात्मक कार्रवाई के आधार पर डीयू मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा उनका नामांकन खारिज करने को चुनौती दी गई है।

इससे पहले, शुक्रवार सुबह हाई कोर्ट ने रॉकी तुषीद का नामांकन पत्र खारिज किये जाने पर विश्वविद्यालय से तीखे सवाल किए। हाई कोर्ट ने विश्वविद्यालय से जानना चाहा है कि कैसे किसी कॉलेज द्वारा किसी छात्र को दी गयी चेतावनी को उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करार दिया जा सकता है।

बता दें कि रॉकी ने अनुशासनात्मक कार्रवाई के आधार पर 12 सितंबर को होने वाले दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव में नामांकन खारिज करने के डीयू मुख्य चुनाव अधिकारी सीईओ के निर्णय को कोर्ट में चुनौती दी है। जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता ने कहा है कि उसे शिवाजी कॉलेज में चेतावनी दी गयी थी और यह अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं है जिसे प्रथम दृष्टया अदालत ने सही पाया है।

उन्होंने कहा कि मैं यह नहीं समझा पा रहा हूं कि यह अनुशासनात्मक कार्रवाई कैसे है। कल्पना की किसी भी सीमा तक इसे अनुशासनात्मक कार्रवाई में नहीं रखा जा सकता। अदालत ने कहा कि छात्र का नामांकन रद्द करके विश्वविद्यालय ने उसका अपमान किया है। रॉकी की ओर से अदालत में पैरवी कर रहे वरिष्ठ वकील पी. चिदंबरम ने जिरह करते हुये कहा कि एक गुमनाम शिकायत के आधार पर सीईओ कैसे उसके नामांकन को रद्द किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here