BJP को वोट मत देना भले ही पार्टी विधानसभा चुनाव में मेरे पिता को ही क्यों न टिकट दे: हार्दिक पटेल

0

गुजरात में पाटिदार आंदोलन के नेता हर्दिक पटेल ने अपने समुदाय के लोगों से दिसंबर में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा को वोट न देने का आग्रह किया है।

हार्दिक पटेल

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक पटेल समुदाय में लोकप्रिय नेता हार्दिक पटेल ने कहा कि उनका समुदाय भगवा पार्टी के लिए नहीं है भले ही चुनावों में पार्टी विधानसभा चुनाव में मेरे पिता को ही क्यों न टिकट दे।

पटेल ने कहा, यह हमारा कर्तव्य है कि हमारे समुदाय को आजाद कराने के लिए संघर्ष करें जो पिछले 25 वर्षों से गुलाम बना हुआ है। 2002 के दौरान हुए गोधरा दंगें हिंदुओं और मुसलमानों के बीच थे। लेकिन वास्तव में, 140 पाटिदार आज भी कारावास में सजा भुगत रहे हैं। भाजपा ने केवल हमारे वोटों और पैसे का फायदा उठाया है और बदले में कुछ नहीं दिया है।

तीन दिवसीय पाटीदार संकल्प यात्रा के दूसरे दिन जूनागढ़ जिले के केशोद तालुका के अजब गांव में पाटीदार की रैली में बोलते हुए पटेल ने कहा, चुनाव जल्द ही होने वाले है। ऐसे में बीजेपी आपको कई लॉलीपॉप देगी और आप उसके बहकावे में आ सकते है, लेकिन मेरे पिता, भरत पटेल को भी वोट न दे अगर वह केशोद तालुका में भाजपा की उम्मीदवारी पर चुनाव लड़ते है।

आपको बता दे कि इससे पूर्व गुजरात में पटेलो के आरक्षण के लियें आन्दोलन करने वाले हार्दिक पटेल ने गुजरात के 2002 दंगो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पटेल समुदाय के लोगों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था।
भाषा की खबर के अनुसार, मोदी को लिखे एक पत्र में हार्दिक ने 2002 के दंगों के लिए मोदी को जिम्मेदार ठहराया था।

पत्र में हार्दिक ने 102 पटेल समुदाय के सदस्यों की एक सूची दी थी, जो 2002 के दंगे के विभिन्न मामलों में उम्रकैद की सजा काट रहे है। उनके खिलाफ चल रहें मामलों से बरी करने को कहा था।

हार्दिक ने लिखा था “हर कोई जानता है कि नरेंद्र मोदी ने पहली बार 2002 दंगों का लाभ लेने के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री बने और फिर प्रधानमंत्री बने, दूसरी तरफ पटेल समुदाय के लोगों के दंगो में दोषी पाया गया और वो जेलों में पड़े हैं। प्रधानमंत्री चाहें तो राष्ट्रपति से पटेल समुदाय के लिए माफी की अपील कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here