कोरोना वायरस पर टीवी एक्ट्रेस दिव्यांका त्रिपाठी का ऐसा ट्वीट देख भड़के लोग, आलोचनाओं के बाद अभिनेत्री ने मांगी माफी

0

टेलीविजन अभिनेत्री दिव्यांका त्रिपाठी अपने एक ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गई है, लोग उन्हें जमकर खरी-खोटी सुना रहे है। दरअसल, घातक कोरोना वायरस को लेकर टेलीविजन अभिनेत्री दिव्यांका त्रिपाठी ने हाल ही में एक ट्वीट किया, जिसके चलते अब वह आलोचनाओं से घिर गई हैं। हालांकि, विवाद बढ़ता देख दिव्यांका त्रिपाठी ने अपने ट्वीट के लिए मांफी मांग ली।

दिव्यांका त्रिपाठी

दिव्यांका त्रिपाठी ने ट्वीट किया था, “मुंबई में इतने कम ट्रैफिक को देखकर लगता है कि यह मेट्रो, पुलों और सड़कों को जल्दी पूरा करने का एक मौका है।” दिव्यांका ने यह ट्वीट भले ही फनी अंदाज में किया हो, लेकिन ऐसी स्थिति में इस तरह की बात करना लोगों को नागवार गुजरा और उन्होंने ऐक्ट्रेस की क्लास ले ली।

अभिनेत्री ने एक वीडियो भी पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने दिखाया कि किस तरह से कोरोना वायरस के चलते मुंबई की सड़कों पर ट्रैफिक अभी कम है। इसके साथ ही उन्होंने इस बात की भी उम्मीद जताई कि समय के साथ कोरोनावायरस का यह खतरा टल जाएगा। उन्होंने कहा कि मेट्रो और सड़क के काम अब पूरे हो जाएंगे, क्योंकि श्रमिक अब बिना किसी रूकावट के आराम से अपना काम कर सकेंगे।

दिव्यांका की यही बात सोशल मीडिया यूजर्स को पसंद नहीं आई और लोग उन्हें जमकर खरी-खोटी सुनाने लग गए। एक यूजर ने लिखा, “वे श्रमिक भी इंसान ही हैं। यह एक आपातकाल है और सभी की सुरक्षा जरूरी है।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “जैसे कि इंजीनियर्स और श्रमिकों की जिंदगी की कोई अहमियत ही नहीं है.. ऐसी एक स्थिति में यह कितना अजीब ट्वीट है।” एक अन्य यूजर्स ने लिखा, “मेट्रो कर्मचारी मजदूर भी इंसान हैं।”

एक अन्य यूजर ने दिव्यांका को लताड़ते हुए लिखा, ‘मैडम क्या उन वर्करों की जिंदगी जरूरी नहीं है? जब देश के सभी लोगों को अपने घरों में ही रहने के लिए कह दिया गया है तो फिर वे वर्कर कैसे काम पर आ सकते हैं? भले ही वे रोजाना के भत्ते पर काम करने वाले लोग हों तो फिर सरकार भला उन्हें पब्लिक प्रॉजेक्ट पर काम करने की आजादी कैसे देगी?’

आलोचनाओं के बाद अभिनेत्री ने मांगी माफी

हालांकि, दिव्यांका त्रिपाठी जब बुरी तरह ट्रोल होने लगी तो उन्होंने इस ट्वीट के लिए माफी भी मांग ली। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘हम सभी इंसान हैं और गलतियों के लिए अतिसंवेदनशील हैं। इस अस्थिर और हिंसक सोशल मीडिया की दुनिया में, महत्वपूर्ण सवाल यह है: अगर कोई एहसास करने और माफी मांगने में सक्षम है… तो क्या आप माफी करने और आगे बढ़ने में सक्षम हैं? क्या सब कुछ खबर और तर्क का बिंदु होना चाहिए? वहां मानवता कहां है?’

बता दें कि, कोरोना वायरस से संक्रमित मुम्बई के 64 वर्षीय एक व्यक्ति की मंगलवार को मौत हो गई। इस वायरस से राज्य में यह पहली, जबकि देश में तीसरी मौत है। इससे पहले कर्नाटक के कलबुर्गी में सऊदी अरब की यात्रा करने वाले 76 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हुई थी। इसके बाद दिल्ली में 68 वर्षीय संक्रमित महिला की जान गई थी। देश में 22 विदेशी नागरिकों समेत 127 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, स्वास्थ्य में सुधार के बाद अब तक 13 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है, जिनमें केरल के तीन मामले भी शामिल हैं। बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के प्रमुख प्रवीण परदेसी ने कहा कि मुंबई का मरीज शहर के कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती था। उन्होंने बताया कि मृतक कोरोना वायरस के अलावा स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं से ग्रसित था।

गौरतलब है कि, दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में चीन में महामारी का रूप धारण कर चुके खतरनाक कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट जारी है। भारत में कोरोना की दस्तक के साथ ही लोगों में घबराहट और बेचैनी बढ़ गई है। पिछले कुछ दिनों में लगातार देशभर से कोराना वायरस की चपेट में आए लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। (इंपुट: भाषा और आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here