नलिया गैंगरेप मामले पर डिम्पल यादव ने ‘आजतक’ के पत्रकार राहुल कंवल की बंद कर दी बोलती, देखें- वीडियो

1

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में सीएम अखिलेश यादव की पत्नी समाजवादी पार्टी की कन्नौज से सांसद डिंपल यादव इस चुनाव में नई पॉलिटिकल स्टार बनकर सामने आई हैं। अब तक सार्वजनिक मंचों पर भाषण देने से बचने वाली डिंपल इस विधानसभा चुनाव में पार्टी की सबसे लोकप्रिय नेता के तौर पर सामने उभर कर सामने आई हैं।

अब तक जिन स्टार प्रचारकों की मांग पार्टी के प्रत्याशियों की ओर से आ रही है, उनमें अखिलेश के बाद सबसे ज्यादा डिंपल यादव की मांग है। डिंपल अपने संबोधन में कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य में कथित तौर पर बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर हमला बोलने से नहीं चुकती हैं।

इस बीच रविवार(19 फरवरी) को ‘आजतक’ को दिए एक इंटरव्यू में भी डिंपल यादव ने अखिलेश के कामों पर मौहर लगाई। साथ ही वरिष्ठ पत्रकार राहुल कंवल ने डिंपल से जब राज्य में कानून-व्यवस्था को लेकर सवाल किया तो डिंपल ने अन्य राज्यों की कानून व्यवस्था की आंकड़ों को पेश कर राहुल की बोलती बंद दी।

डिंपल ने गुजरात में कच्छ स्थित नालिया शहर में एक शादीशुदा महिला के साथ कथित तौर पर हुए गैंगरेप के मामलों को उठाते हुए पूछा कि आप(पत्रकार) लोग कच्छ वाली घटना को कितनी बार दिखाए हैं। इस सवाल पर राहुल कंवल ने कन्नी काटते हुए पुणे की घटना का जिक्र करने लगे, जिसके बाद एक बार फिर डिंपल ने उन्हें बीच में रोकते हुए कहा मैं पुणे नहीं, कच्छ की बात कर रही हूं… मुझे बताइए कि आप लोग अपने प्राइम टाइम में इस न्यूज को कितनी बार चलाएं हैं?

डिंपल ने कहा कि इस घटना में कई बीजेपी नेताओं के नाम सामने आ रहे हैं जिसमें करीब 30-35 महिलाओं को बीजेपी नेताओं ने बंधक बनाकर उनके साथ दुर्व्यवहार किया। साथ ही डिंपल कई अन्य राज्यों के कानून-व्यवस्था को लेकर राहुल कंवल को खूब खरी-खरी सुनाई।

क्या है नलिया गैंगरेप मामला?

दरअसल, गुजरात में कच्छ स्थित नालिया शहर में एक शादीशुदा महिला के साथ कथित तौर पर हुए गैंगरेप के मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने इस अपराध में शामिल पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए इन आरोपियों में 4 बीजेपी के नेता भी शामिल हैं।

महिला के साथ गैंगरेप की पहली वारदात साल 2015 में हुई थी। पीड़िता ने आरोप लगाया है कि वह बीजेपी नेता शांतिलाल की गैस एजेंसी पर काम करती थी। इस दौरान जब दिवाली पर उसने शांतिलाल से एडवांस सैलरी की मांग की तो उसने पीड़िता को घर आकर पैसे लेने की बात कही।

पीड़िता के घर पहुंचने के बाद आरोपियों ने उसे कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया और फिर उसके साथ गैंगरेप किया। पीड़िता का आरोप है कि उन लोगों ने उसका अश्लील वीडियो भी बनाया। महिला के मुताबिक, उस वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर आरोपी पिछले डेढ़ साल से पीड़िता को ब्लैकमेल कर रहे थे।

हालांकि, गुजरात भाजपा ने पहले ही पार्टी के इन चारों सदस्यों (शांतिलाल सोलंकी, गोविंद परूमलानी, अजीत रामवानी और वसंत भानुशाली) को पार्टी से निलंबित कर चुकी है। लेकिन इसके बावजूद ये मामला तुल पकड़ता जा रहा है।

https://www.youtube.com/watch?v=dJ7-lTmtTmI

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here