कोरोना वायरस से निपटने के इंतजामों पर दिग्विजय सिंह ने उठाए सवाल, कांग्रेस ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

0

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यंत्री दिग्विजय सिंह ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश और प्रदेश में किए गए सुरक्षा व स्वास्थ्य इंतजामों पर सवाल उठाए हैं।

Digvijay Singh
file- photo

दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार (27 मार्च) को ट्वीट किया, “पूरे देश में डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ को कोरोना वायरस से बचाव के लिए पीपीई मॉस्क और दस्तानों की जो व्यवस्था करनी चाहिए, वह नहीं हुआ। टेस्टिंग किट भी नहीं है। भोपाल में केवल एम्स में टेस्टिंग किट है, वह भी एक दिन में केवल 30 से 40 टेस्ट ही कर सकती है।”

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कोरिया और सिंगापुर में वायरस पर पाए गए नियंत्रण का जिक्र करते हुए कहा, “कोरिया और सिंगापुर ने सबसे प्रभावी ढंग से कोरोनावायरस को नियंत्रित किया है। वह कैसे, प्रभावशाली ढंग से समय पर लॉकडाउन, जिस क्षेत्र में मरीज पाया गया, उस क्षेत्र को पूरे प्रभावी ढंग से अलग कर दिया। भारी मात्रा में टेस्टिंग किट शहरों में रखे गए और प्रयोगशालों की व्यवस्था की।”

पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा फरवरी में कोरोना के खतरों से आगाह करने के बावजूद सरकार द्वारा ध्यान न दिए जाने का जिक्र करते हुए कहा, “जब चीन, कोरिया, सिंगापुर ये सब कर रहे थे, राहुल गांधी फरवरी महीने से इस खतरे से मोदी जी को आगाह कर रहे थे, लेकिन भाजपा अपने राजनीतिक एजेंडे में व्यस्त थी। कम से कम अब संपूर्ण मेडिकल स्टाफ को बचाव के संसाधन व अधिक से अधिक मात्रा में टेस्टिंग किट उपलब्ध कराना चाहिए।”

मध्य प्रदेश में इस दिशा में आवश्यक प्रयास किए जाने का आग्रह करते हुए सिंह ने कहा, “मैंने मप्र सरकार से अनुरोध किया है कि वे तत्काल अधिक से अधिक और जल्दी से जल्दी टेस्ट करने की मशीन खरीदने के आदेश देने का कष्ट करे। मेरी जानकारी में जो मशीन ख़रीदी जा सकती है उसकी जानकारी निम्न है।”

इस बीच, कांग्रेस ने भी अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर आज मोदी पर निशाना साधा और कहा कि वह जिम्मेदारी को निभाने में विफल रहे है। पार्टी ने ट्वीट किया परिवर्तन प्रकृति का नियम है और इन्हीं परिवर्तनों के दौरान कुछ संकट भी आ जाते हैं। मगर, इन संकटों से निपटना नेतृत्व की जिम्मेदारी है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोरोना संकट से निपटने में विफल साबित हुए हैं। संकट पहले भी आए हैं मगर उनका समय रहते समाधान किया गया था।

सरकार पर 21 दिन के लॉकडाउन से पहले तैयारी नहीं करने का आरोप लगाते हुए पार्टी ने कहा कोरोना महामारी और लॉकडाउन देश के किसानों पर दोहरी मार कर रहे हैं। फसल कटाई के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है। किसानों की साल भर की कमाई भरतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार की अदूरदर्शिता की भेंट चढ़ रही है। इसके साथ ही पार्टी ने प्रथम प्रधान मंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का देश की आज़ादी के समय तिरंगा फहराता हुआ वीडियो पोस्ट किया है जिसमें दिखाया गया है कि पंडित नेहरू, श्रीमती इंदिरा गांधी और मनमोहन सिंह अपने समय आये संकटों से निपटने में सफल रहे थे।

गौरतलब है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों से कोरोना वायरस की गंभीरता को समझने और घरों में रहने की अपील करते हुए मंगलवार को 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि ये लॉकडाउन कर्फ्यू की तरह ही होगा। बता दें कि, देश में अब तक 17 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो हुई है। वहीं, इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 750 के करीब पहुंच गई है। (इंपुट: आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here