मध्य प्रदेश चुनाव: EVM की खराबी पर दिग्विजय सिंह का बड़ा आरोप, बोले- ‘कांग्रेस के पक्ष वाले मतदान केंद्रों पर ही मशीनें हो रही हैं खराब’

0

मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर बुधवार (28 नवंबर) सुबह से मतदान जारी है। मध्य प्रदेश की तीन सीटों पर वोटिंग सुबह सात बजे शुरू हो गई। इसके अलावा मध्य प्रदेश की 227 सीटों पर मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ, जो शाम पांच बजे तक चलेगा। जानकार इन विधानसभा चुनाव को अगले साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले सेमीफाइनल के तौर पर भी देख रहे हैं।

Digvijay Singh
file- photo

मतदान शुरू होने के बाद सुबह से ही कई स्थानों से ईवीएम और VVPAT मशीनों में खराबी की खबरें आ रही हैं। वहीं, गुना में चुनाव आयोग के एक अधिकारी और इंदौर में दो अधिकारियों का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। बताया जा रहा है कि अधिकारी मतदाताओं को कतार में लगवा रहे थे तभी उन्हें दौरा आया और उनकी मौत हो गई।

कांग्रेस नेता का बड़ा आरोप

इस बीच मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बड़ा आरोप लगाया है। सिंह ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस के पक्ष के कई मतदान केंद्रों में से ईवीएम खराब होने की सूचनाएं आ रही हैं। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि कई ऐसे मतदान केंद्रों पर, जो कांग्रेस के पक्ष के हैं, वहां से ईवीएम खराब होने के समाचार आ रहे हैं।

उन्होंने अपने ट्वीट में कांग्रेस के पोलिंग एजेंट्स से कहा है कि वे खराब मशीन के स्थान पर बदली जाने वाली मशीनों के नम्बर नोट कर लें और नई मशीन को वोटिंग शुरु होने के पहले 50-100 वोट डाल कर चेक जरूर करें।

दाव पर शिवराज की साख

मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ-साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की साख पर कसौटी पर है।कांग्रेस की कोशिश बीजेपी को 15 साल बाद सत्ता से बेदखल करने की है। इन चुनाव में विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के प्रदर्शन से यह तय होगा कि उन्हें 2019 के चुनाव के लिए अभी और कितनी मेहनत करने की जरूरत है।

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में पांच करोड़ से अधिक मतदाता 2,899 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। कई स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे और हेलीकॉप्टर से नजर रखी जा रही है। मतदान केंद्रों के बाहर मतदान शुरू होने से पहेल ही मतदाताओं की कतारें देखी गईं।

राज्य के नक्सल प्रभावित तीन मतदान केंद्रों परसवाड़ा, लॉजी और बैहर में मतदान प्रक्रिया सुबह सात बजे शुरू हो गई जबकि शेष 227 मतदान केंद्रों पर सुबह आठ बजे मतदान शुरू हुआ। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में दोपहर तीन बजे तक मतदान चलेगा, जबकि अन्य केंद्रों में मतदान प्रक्रिया शाम पांच बजे समाप्त होगी।

राज्य में मतदाताओं की संख्या

आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी के अनुसार, राज्य में 5,04,33079 मतदाता राज्य के 65,367 मतदान केंद्रों पर ईवीएम और वीवीपैट से मतदान करेंगे। इस दौरान पुरूष मतदाताओं की संख्या 2,63,1300 और महिला मतदाताओं की संख्या 2,41,30,390 एवं थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या 1,389 है। चुनाव मैदान में 2,899 उम्मीदवार हैं, जिनमें पुरूष प्रत्याशी 2,644, महिला प्रत्याशी 250 और अन्य प्रत्याशी पांच हैं।

इस चुनाव में कुल 2899 प्रत्याशी मैदान में है। इनमें 2644 पुरुष और 250 महिलाएं शामिल हैं। इसके अलावा थर्ड जेंडर के पांच उम्मीदवार भी है। इसमें 1794 सामान्य, 591 अनुसूचित जाति और 514 अनुसूचित जनजाति वर्ग से हैं। उन्होंने बताया कि राज्य की छतरपुर विधानसभा क्षेत्र में सर्वाधिक सात महिला प्रत्याशी, जबकि मेहगांव में सर्वाधिक 33 पुरुष प्रत्याशी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here