दिग्विजय सिंह ने फिर उठाए राम मंदिर के शिलान्यास के मुहूर्त पर सवाल, कहा- “हे प्रभु हमें क्षमा करना”

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार (5 अगस्त) को अयोध्या में बनने वाले भव्य राममंदिर का भूमिपूजन करेंगे, लेकिन ‘अशुभ’ मुहूर्त में मंदिर के शिलान्यास को लेकर कांग्रेस महासचिव और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने फिर निशाना साधा और कहा कि यह वेद द्वारा स्थापित ज्योतिष शास्त्र की स्थापित मान्यताओं के विपरीत हो रहा है, हे प्रभु हमें क्षमा करना। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राममंदिर भूमिपूजन की तिथि को लेकर बराबर बयान देते रहे हैं और इसे ‘अशुभ’ मुहूर्त करार दिया है।

दिग्विजय सिंह
file photo

राज्यसभा सांसद ने आज फिर हैशटैग #राम_मंदिर_निर्माण_मुहूर्त के साथ ट्वीट कर कहा, “आज अयोध्या जी में भगवान रामलला के मंदिर का “शिलान्यास” वेद द्वारा स्थापित ज्योतिष् शास्त्र की स्थापित मान्यताओं के विपरीत हो रहा है, हे प्रभु हमें क्षमा करना। यह निर्माण निर्विघ्न रूप से पूरा हो यही हमारी आप से प्रार्थना है। जय सिया राम।”

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “2014 में मोदी जी ने नारा दिया था ‘सबका साथ सबका विकास’ जो 2019 में हो गया ‘सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास’ मोदी जी जरा आत्मचिंतन करें। डॉ मनमोहन सिंह जी का लेख पढ़ें और गरीब, मज़दूर, किसान, व्यापारी, उद्योगपति का विश्वास हासिल कर, अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने की पहल करें।”

वहीं, इससे पहले एक अन्य ट्वीट में राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने लिखा था, “अयोध्या में भगवान राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास के अशुभ मुहूर्त में कराये जाने पर हमारे हिंदू (सनातन) धर्म के द्वारका व जोशीमठ के सबसे वरिष्ठ शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद जी महाराज का संदेश व शास्त्रों के आधार पर प्रमाणित तथ्यों पर वक्तव्य अवश्य देखें।”

बता दें कि, उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे। इसके बाद राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। जहां एक तरफ सभी देशवासी इसे लेकर उत्साहित हैं। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिहं ने इसके मुहूर्त को लेकर एक बार फिर सवाल उठाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here