धर्मेंद्र ने बेटे सनी देओल को दी AAP सांसद भगवंत मान से सीख लेने की सलाह, गुरदासपुर में अपना प्रतिनिधि नियुक्त कर ट्रोल हुए थे BJP सांसद

0

फिल्म अभिनेता और गुरदासपुर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सनी देओल पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर हैं। दरअसल, सनी देओल ने एक लेखक को अपने संसदीय क्षेत्र गुरदासपुर का सांसद ‘प्रतिनिधि’ नियुक्त किया है। भाजपा सांसद के इस कदम को प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने जनादेश के साथ ‘धोखा’ करार दिया है। वहीं, सोशल मीडिया पर भी लोग सनी केे इस कदम पर सवाल उठा रहे हैं और निशाना साध रहे हैं।

सोशल मीडिया पर मचे हंगामे के बीच हिंदी सिनेमा के लीजेंडरी एक्टर धर्मेंद्र ने अपने नवनिर्वाचित सांसद बेटे सनी देओल को पंजाब के संगरुर से आम आदमी पार्टी (आप) के सांसद भगवंत मान से सीख लेने की सलाह दी है। धर्मेंद्र का यह सलाह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। धर्मेंद्र द्वारा सनी को मान से सीख लेने की सलाह देने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स हैरान हैं।

दरअसल, सनी तखर नाम एक एक यूजर ने सनी देओल की मुंबई एयरपोर्ट की एक तस्‍वीर शेयर किया। इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए धर्मेंद्र ने लिखा, ‘सनी मेरे बेटे संगरुर से सांसद मेरे बेटे जैसे ही भगवंत मान से सीखने का प्रयास करो। भारत माता की सेवा के लिए कितना बलिदान किया। जीते रहो मान, बहुत, बहुत मान है, मुझे आप पर।’ बता दें कि राजनीति में आने से पहले आप सांसद भगवंत मान मशहूर गायक और अभिनेता रह चुके हैं।

हालांकि, धर्मेंद्र के इस ट्वीट के बाद हैरानी जताते हुए लोगों ने उन्‍हें ही ट्रोल करना शुरू कर दिया। एक यूजर ने पूछा कि भगवंत मान ने क्‍या बलिदान दिया है? इस पर धर्मेंद्र ने सफाई देते हुए कहा कि भगवंत मान ने अपना करोड़ों का पेशा यानि फिल्‍मी करियर छोड़ दिया। बता दें कि भगवंत मान शराब पीने को लेकर कई बार विवादों में आ चुके हैं इसी वजह से लोगों को धर्मेंद्र की सलाह रास नहीं आ रही है।

बता दें कि गुरदासपुर सांसद के लेटरहेड पर जारी एक पत्र के मुताबिक सनी देओल ने गुरप्रीत सिंह पलहेरी को अपना ‘प्रतिनिधि’ नियुक्त किया है जो ‘बैठकों एवं अन्य कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे।’ देओल की ओर से जारी पत्र में लिखा गया है, ‘मैं, गुरप्रीत सिंह पलहेरी, पुत्र सुपिंदर सिंह, निवासी पलहेरी गांव, जिला मोहाली, पंजाब को अपना प्रतिनिधि नियुक्त करता हूं। वह संबंधित अधिकारियों के साथ मेरे संसदीय क्षेत्र गुरदासपुर निर्वाचन क्षेत्र से संबंधित बैठकों और अन्य कार्यक्रमों में शिकरत करेंगे।’

सनी गुरदासपुर में अपना ‘प्रतिनिधि’ नियुक्त करने पर आलोचनाओं का सामना कर रहे हैं। सनी ने इस पर सफाई दी है और कहा कि बेवजह का विवाद पैदा किया जा रहा है। उन्होंने इस मामले में ट्वीट कर लिखा, ‘यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है, ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है और उसमें भी इतना बड़ा विवाद खड़ा कर दिया गया है। मैंने अपना पीए (पर्सनल असिस्टेंट) नियुक्त किया है जो कि गुरदासपुस के मेरे ऑफिस में मेरा प्रतिनिधित्व करेगा। ये नियुक्ति इस बात को ध्यान में रखकर की गई है कि जब मैं गुरदासपुर से बाहर हूं, संसद में हूं या कहीं सफर कर रहा हूं तो भी काम लगातार, बिना रुके चलता रहे’।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here