उत्तर प्रदेश: बच्चा चोरी की अफवाह फैलाने के आरोप में सरकारी इंटमीडिएट कॉलेज के उप प्रधानाचार्य गिरफ्तार

0

पिछले कुछ समय से देश भर में कई जगहों पर मॉब लींचिंग (भीड़ द्वारा की जा रही हत्या) की घटनाएं देखने को मिल रही है। इसी बीच, उत्तर प्रदेश के सीतापुर में एक सरकारी इंटमीडिएट कॉलेज के उप प्रधानाचार्य को बच्चा चोरी की अफवाह फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

उत्तर प्रदेश
प्रतीकात्मक तस्वीर

समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, सिधौली सर्कल अधिकारी अंकित कुमार सिंह ने कहा कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय इंटर कॉलेज के उप-प्रधानाचार्य रूपेश सिंह को शनिवार को यह अफवाह फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया कि प्राइमरी सेक्शन के दो छात्र पिछले दो दिनों से लापता हैं और संभवत: बच्चा चोरों का शिकार बन गए हैं।

अधिकारी ने कहा, “उन्होंने (उप प्रधानाचार्य)कॉलेज के प्रिंसिपल और अन्य शिक्षकों को भी इसकी जानकारी दी। यह अफवाह इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई, जिसके बाद कुछ अभिभावकों ने अपने बच्चों को स्कूल भेजना बंद कर दिया और पुलिस को इसकी जानकारी दी।”

जब पुलिस की एक टीम लापता बच्चों का पता लगाने के लिए कॉलेज पहुंची, तो पाया कि सभी छात्र मौजूद थे और अनुपस्थित छात्र अपने घरों में थे। हालांकि, सिंह ने शनिवार को फिर से अफवाहें फैलाना शुरू कर दिया जिसके बाद फिर से पुलिस में शिकायत दर्ज की गई। इसके बाद, अटरिया के स्टेशन ऑफिसर पुष्पराज कुशवाहा कॉलेज पहुंचे और उप प्रधानाचार्य को गिरफ्तार कर लिया।

कुशवाहा ने कहा, “एक पुलिस टीम को फिर से दावों की जांच करने के लिए कहा गया, जो गलत पाए गए, जिसके बाद सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया।” उप प्रधानाचार्य को भारतीय दंड संहिता की धारा 505 (सार्वजनिक रूप से शरारत के तौर पर जानबूझकर अफवाह फैलाना) के तहत दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here