लोकसभा चुनाव: BJP द्वारा टिकट नहीं मिलने से निराश 8 बार सांसद रहे दिग्गज नेता करिया मुंडा बोले- ‘अब खेती करूंगा’

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने 21 मार्च को लोकसभा चुनाव के लिए अपने 184 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी दी जिसमें प्रमुख उम्मीदवारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी से और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की जगह गांधीनगर से चुनाव लड़ेंगे। लेकिन ऐसा नहीं है कि बीजेपी ने पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी का ही इस बार टिकट नहीं काटा, बल्कि उत्तराखंड के दो बार मुख्यमंत्री रहे भुवन चंद्र खंडूरी का भी टिकट कथित तौर पर काट दिया है।

इसके अलावा अन्य सूची में इन दिग्गजों में एक नाम पूर्व लोकसभा उपाध्यक्ष और आठ बार के सांसद रहे करिया मुंडा का भी है। झारखंड के इस दिग्गज नेता को इस बार भारतीय जनता पार्टी ने टिकट नहीं दिया। टिकट नहीं मिलने पर निराश मुंडा ने अब खेती की ओर लौटने का मन बना लिया है। मुंडा ने बीजेपी द्वारा झारखंड से लोकसभा चुनाव में उनका टिकट काटे जाने के बाद रविवार को कहा कि वह अब खेती की ओर लौटेंगे।

शनिवार को जारी बीजेपी उम्मीदवारों की सूची में करिया मुंडा की जगह पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अर्जुन मुंडा को टिकट दिया गया है। शनिवार को जारी बीजेपी उम्मीदवारों की सूची के अनुसार, पार्टी ने झारखंड की 14 में से 10 लोकसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम तय कर दिए हैं। इनमें से सिर्फ खूंटी सीट पर उम्मीदवार बदला गया है।

खूंटी से आठ बार के लोकसभा सांसद रहे करिया मुंडा की जगह पार्टी ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को टिकट दिया है। बाकी 9 सीटों पर मौजूदा सांसदों को ही एक बार फिर मौका दिया गया है। करिया मुंडा 1977 में पहली बार लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए थे। वह 2009 में लोकसभा उपाध्यक्ष बने थे।

टिकट कटने से निराश 82 वर्षीय करिया मुंडा ने पत्रकारों से कहा, ‘मैं खेती से लोकसभा गया था। मैं खेती की ओर फिर से लौटूंगा। मैं लोगों की सेवा के लिए राजनीति में था न कि निजी हित के लिए। भगवान ने मुझे बहुत कुछ दिया है।’ बता दें कि करिया मुंडा के बारे में अक्सर कहा जाता है कि वो बेहद सादगी भरा जीवन जीते हैं। (आईएएनएस इनपुट के साथ)

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here