उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा: अदालत ने छात्र कार्यकर्ता गुलफिशा फातिमा को जमानत दी

0

दिल्ली की एक अदालत ने शनिवार को छात्र कार्यकर्ता गुलफिशा फातिमा को फरवरी में उत्तर पूर्वी दिल्ली में सांप्रदायिक हिंसा से जुड़े एक मामले में जमानत दे दी। जेएनयू के छात्रों देवांगना कलिता और नताशा नरवाल को पहले ही इस मामले में जमानत दी गई थी।

दिल्ली

उल्लेखनीय है कि, संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरोधी और समर्थकों के बीच हिंसा के बाद 24 फरवरी को उत्तर पूर्वी दिल्ली में सांप्रदायिक दंगे भड़क गए थे जिसमें कम से कम 53 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 200 के करीब घायल हुए थे।

पुलिस उत्तरी-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों में शामिल उन सभी लोगों की भूमिका की जांच कर रही है जो हिंसा फैलाने की साजिश के पीछे थे और समुदायों के बीच सांप्रदायिक उन्माद भरने की कोशिश कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here