दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने अरविंद केजरीवाल से मांगे फोन टैपिंग के सबूत

0

दिल्ली पुलिस कमिश्रर आलोक कुमार वर्मा ने शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को जजों के फोन टेप करने के मामले में चिट्ठी लिखी है।

कमिश्नर वर्मा ने केजरीवाल से जजों के फोन टेप करने के सबूत मांगे हैं। बता दें, सोमवार (31 अक्टूबर) को दिल्ली हाई कोर्ट की 50वीं सालगिरह समारोह के दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने जजों के फोन टैप होने का आरोप लगाया था।

अरविंद केजरीवाल

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे। केजरीवाल ने कहा था, ‘जजों के फोन भी टैप होते हैं। मैं कहता हूं कि ऐसा नहीं होना चाहिए। मैंने देखा दो जज आपस में बात कर रहे थे फोन पर बात मत करो, फोन टैप होता है।

Also Read:  केजरीवाल क्यों चाहते है पीएम मोदी को हिम्मत दिखाने के लिए मिलना चाहिए भारत रत्न?

मैं नहीं जानता है कि यह सही है या नहीं, लेकिन अगर यह सही है तो यह खतरनाक है। तो फिर न्यायपालिका की स्वतंत्रता कहां रही? अगर कोई जज कुछ गलत करता भी है तो भी फोन टैपिंग नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा और भी तरीके हैं जिनसे सबूत इकट्ठा किए जा सकते हैं।’

Also Read:  सदस्य सचिव की नियुक्ति पर एल जी नजीब जंग और मुख्यमंत्री केजरीवाल आमने सामने

जनसत्ता की खबर के अनुसार, दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने केजरीवाल को चिट्ठी में लिखा है, ‘दिल्ली हाईकोर्ट की 50वीं सालगिरह समारोह के दौरान आपने कथित तौर पर आरोप लगाया था कि जजों के फोन टेप किए जा रहे हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ऐसा आपने कुछ जजों को बात करते हुए सुना था।

जैसा की आपको पता है कि फोन टेप करना एक गंभीर मामला है। इसकी मंजूरी तब तक नहीं मिलती, जब तक सक्षम अधिकारी कानून की प्रक्रिया के तहत इसकी सिफारिश ना कर दे।

Also Read:  सुखबीर सिंह बादल के गढ़ से आरम्भ होगा 'आप' का चुनावी अभियान, 21 रैलियों को सम्बोधित करेंगे अरविंद केजरीवाल

इसलिए आपका इस मामले का जिक्र करना गंभीर चिंता का विषय है। आप हमें फोन टेपिंग की किसी भी घटना के बारे में बताए, जिसके हवाले से आपने इसका जिक्र अपने भाषण में किया। अगर आप हमें उस की सूत्र की जानकारी देंगे, जिसके हवाले से आपने यह आरोप लगाया है तो हम आपकी प्रशंसा करेंगे। ताकि, इस मामले में उचित कदम उठाए जा सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here