दिल्ली मेट्रो में जेब संभाल कर, गिरफ्तार लोगों में 91% महिलाएं

0
दिल्ली मेट्रो को उसकी सुरक्षा व्यवस्था के लिए जाना जाता है लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद दिल्ली मेट्रो में पॉकेटमारी की कम होने का नाम नहीं ले रही है। राजधानी में चलने वाली दिल्ली मेट्रो रेल नेटवर्क में पॉकेटमारी के आरोप में सीआईएसएफ द्वारा गिरफ्तार किए गए लोगों में 91 प्रतिशत महिलाएं हैं।
Delhi Metro

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली मेट्रो नेटवर्क को हथियारबंद सुरक्षा मुहैया कराने वाले बल ने इस वर्ष कुल 479 पॉकेटमारों को गिरफ्तार किया है, जिनमें से 438 महिलाएं हैं।

दिसंबर मध्य तक प्राप्त किए गए पूरे वर्ष के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली की लाइफ लाइन बन चुके मेट्रो रेल में सुरक्षा बलों ने पॉकेटमारी के खिलाफ 100 से ज्यादा अभियान चलाए। दिल्ली मेट्रो रेल में हर रोज तकरीबन 26 लाख यात्री सफर करते हैं। ऐसा नहीं है कि पहली बार गिरफ्तार पॉकेटमारों में महिलाओं की संख्या इतनी ज्यादा है।

पिछले कई वर्षों से यहां हालात ऐसे ही हैं। केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) अभियान के दौरान गिरफ्तार किए गए इन पॉकेटमारों को आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस को सौंप देती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हाल ही में सीआईएसएफ ने ऐसी महिलाओं के एक गिरोह का पर्दाफाश किया था, जिसने दिल्ली मेट्रो में पति के साथ यात्रा कर रही भारतीय-अमेरिकी महिला के गहने और अन्य कीमती सामान लूट लिया था।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘दिल्ली मेट्रो में पॉकेटमारी के अपराध में शामिल लोगों में 91 प्रतिशत से ज्यादा महिलाएं हैं। उन्होंने कहा, ‘ऐसा मालूम हुआ है कि ये महिलाएं बच्चे के साथ समूह में चलती हैं और महिलाओं तथा पुरूषों के पर्स और अन्य कीमती सामान चुरा लेती हैं। पिछले वर्ष गिरफ्तार पॉकेटमारों में 93 प्रतिशत महिलाएं थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here