दिल्ली: मौलवी का आरोप- ‘जय श्री राम’ नहीं कहने पर युवकों ने कार से मारी टक्कर, असदुद्दीन ओवैसी ने की सख्त कार्रवाई की मांग

0

देश की राजधानी दिल्ली के रोहिणी इलाके में एक मौलवी ने आरोप लगाया है कि गुरुवार को तीन लोगों ने उन्हें कार से इसलिए टक्कर मार दी क्योंकि उन्होंने ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने से मना कर दिया था। हालांकि, पुलिस ने कहा कि वह मौलवी के दावों के बारे में जांच पड़ताल कर रही है। वहीं, इस घटना पर असदुद्दीन ओवैसी ने दिल्ली पुलिस से सख्त कार्रवाई की मांग की है।

दिल्ली
फोटो: ANI

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस को दी अपनी शिकायत में मौलाना मोमिन (40) ने कहा कि यह घटना गुरुवार की शाम को उस समय हुई जब वह वह मस्जिद सह मदरसे के पास टहल रहे थे। मोमिन रोहिणी के सेक्टर 20 में एक स्थानीय मदरसे में पढ़ाते है। मोमिन का दावा है कि जब वह शाम लगभग छह बजकर 45 मिनट पर अपनी मस्जिद की ओर जा रहे थे तो एक कार ने पीछे से उन्हें टक्कर मारी।

मोमिन ने कहा, ‘‘तीन लोगों ने मुझ से हाथ मिलाने का प्रयास किया। मुझे उनके इरादों पर शक था लेकिन फिर भी मैंने उनसे हाथ मिलाया।’’ उसका दावा है कि तीनों ने उसके हालचाल के बारे में पूछा, जिसका उन्होंने जवाब दिया, ‘‘अल्लाह की कृपा से, मैं अच्छा हूँ। उन्होंने इस पर आपत्ति जताई और मुझसे ‘‘जय श्री राम’’का नारा लगाने को कहा।’’ मोमिन ने कहा कि उन्होंने ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने से इनकार कर दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपनी मस्जिद में वापस जाने लगा, लेकिन मुझे एक वाहन ने टक्कर मारी। ज़मीन पर गिरते ही मैं होश खो बैठा।’’ उन्होंने बताया कि वहां से गुजर रहे एक व्यक्ति ने पुलिस को बुलाया और इसके बाद उन्हें सुल्तानपुरी के संजय गांधी अस्पताल ले जाया गया। मोमिन के सिर, चेहरे और हाथ में चोटें आई हैं।

मोमिन ने शुक्रवार को एक औपचारिक शिकायत दी। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता ने कथित घटना की रिपोर्ट की है और पुलिस ने धाराओं 337 और 279 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बताया कि वे तीन लोगों के बारे में सूचना प्राप्त करने के लिए सीसीटीवी कैमरों की जांच कर रहे है।

वहीं, इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) चीफ और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने दिल्ली पुलिस से कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

असदुद्दीन ओवैसी ने शनिवार को ट्वीट कर लिखा, मोमिन साहब, मेरी सहानुभूति आपके साथ है। दिल्ली पुलिस को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। दोषियों पर समयबद्ध तरीके से मुकदमा चलाने और दंडित करने की आवश्यकता है। बता दें कि, इससे पहले भी ऐसे कई मामले सामने आ चुके है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here