टूलकिट मामला: दिशा रवि की याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट ने टाइम्स नाउ, इंडिया टुडे और न्यूज़ 18 को जारी किया नोटिस

0

टूलकिट मामले में गिरफ्तार 22 वर्षीय पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि की याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट ने गुरुवार (18 फरवरी) को टाइम्स नाउ, इंडिया टुडे और मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाले समाचार चैनल न्यूज 18 को नोटिस जारी किया। बता दें कि, दिशा रवि ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर कर इन मीडिया आउटलेट द्वारा हिंसक रिपोर्टिंग का आरोप लगाया था।

दिशा रवि

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने दिल्ली पुलिस का सख्त बचाव करते हुए कहा कि उत्तरार्द्ध ने मीडिया को कोई विवरण नहीं दिया था। दिशा रवि का प्रतिनिधित्व कर रहे वकील अमित सिब्बल ने इसे सबसे दुर्भाग्यपूर्ण मामला कहा, जहां मीडिया कुछ अपनी टीआरपी हासिल करने के लिए नागरिकों के अधिकारों को रौंद रही है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने मेहता को दिल्ली पुलिस द्वारा कुछ भी लीक नहीं होने की पुष्टि करते हुए शुक्रवार सुबह तक एक हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया। अदालत ने कहा कि टाइम्स नाउ, इंडिया टुडे और न्यूज18.कॉम को टीवी चैनलों के आंतरिक प्रहरी एनबीएसए के माध्यम से नोटिस दिए जाएंगे। कोर्ट अब इस मामले में कल सुनवाई करेगा।

बता दें कि, टूलकिट मामले में गिरफ्तार दिशा रवि ने गुरुवार को दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दायर कर दिल्ली पुलिस को उसके खिलाफ गई जांच को सेल, मीडिया सहित किसी भी तीसरे पक्ष को उसके द्वारा निजी चैट / संचार की कथित सामग्री सहित किसी भी जांच सामग्री को लीक करने से रोकने की मांग की थी। रवि द्वारा दायर याचिका में सूचना और प्रसारण मंत्रालय को टाइम्स नाउ, इंडिया टुडे और न्यूज 18 के खिलाफ उचित कार्रवाई करने के निर्देश देने की भी मांग की गई।

दिशा ने कथित तौर पर उनकी निजी बातचीत को प्रसारित करने के लिए चैनलों के ख़िलाफ केबल टीवी नेटवर्क के नियमों को तोड़ने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की माँग की है। याचिका में पुलिस पर आरोप लगाया गया है कि पुलिस उनकी निजी वाट्सऐप चैट सहित जाँच की सामग्री को मीडिया में लीक कर रही है। याचिका में कोर्ट से आग्रह किया गया कि वह पुलिस को इस मामले में निर्देश दे।

बता दें कि, दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थुनबर्ग टूलकिट मामले में जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि को गत शनिवार को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया था। दिल्ली की एक अदालत ने उन्हें रविवार को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। दिशा पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने इस टूलकिट को तैयार करने और इसे सोशल मीडिया पर आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई है। दिशा पर राजद्रोह, आपराधिक साज़िश रचने सहित कई गंभीर मुक़दमे दर्ज किए गए हैं। दिल्ली पुलिस ने आरोप लगाया है कि दिशा ने एक वॉट्सऐप ग्रुप भी बनाया था और इस टूलकिट को बनाने में सहयोग किया था।

दिशा रवि की गिरफ़्तारी के बाद विपक्षी नेताओं ने सरकार की आलोचना की है। उनके साथ ही पर्यावरण के लिए काम करने वाले लोग और नागरिक संगठनों से जुड़े लोग भी दिशा के समर्थन में आ गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here