दिल्ली: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का पीछा करने वाले DU के चारों छात्रों को मिली जमानत

0

देश की राजधानी दिल्ली में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की कार का कथित तौर पर पीछा करने वाले नशे में धुत दिल्ली विश्वविद्यालय(डीयू) के चारों छात्रों को थाने से ही जमानत मिल गई है। बता दें कि स्मृति ईरानी का पीछा करने वाले चारों छात्रों को पुलिस ने आईपीसी की धारा 354 और 509 के तहत गिरफ्तार किया था। घटना शनिवार(1 अप्रैल) शाम करीब साढ़े पांच बजे की है।

फाइल फोटो।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय कपड़ा मंत्री के स्टाफ ने शाम सवा पांच बजे पुलिस को फोन कर कहा कि एक कार में कुछ युवक उनके वाहन का पीछा कर रहे हैं और मोतीबाग फ्लाईओवर के पास उन्होंने कार को ओवरटेक करने की कोशिश की।

शिकायत के आधार पर पुलिस ने फौरन अमेरिकी दूतावास के पास उस कार को रोका, जिसमें चार युवक सवार थे। चारों छात्रों की उम्र 18-19 साल है। उन्हें चाणक्यपुरी थाने में गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि उनके चिकित्सकीय परीक्षण से उनके रक्त में अल्कोहल की मौजूदगी की पुष्टि हुई।

इनकी पहचान कुणाल, अभिमन्यु, सितांशु और अनंत के रूप में हुई है। जिस कार से चारो आरोपी केंद्रीय मंत्री की गाड़ी का पीछा कर रहे थे, वह सितांशु के पिता की टैक्‍सी नंबर की कार थी। इन चारों को आज(2 मार्च) थाने से ही जमानत मिल गई।

पुलिस के अनुसार, स्मृति ईरानी शनिवार शाम को मुंबई से दिल्ली एयरपोर्ट लौटी थीं। वहां से वह अपनी गाड़ी से घर की तरफ जा रही थीं। वह जब मोती बाग फ्लाईओवर से आगे निकलकर म्यांमार दूतावास के पास पहुंची तो हरियाणा नंबर की एक सेंट्रो कार उनकी गाड़ी का पीछा करने लगी। उसमें चार युवक सवार थे।

वह कभी उनकी कार को ओवरटेक करते तो कभी साथ में चलने लगते। चारों युवकों ने मंत्री की तरफ कुछ इशारा किया और तेजी से गाड़ी भगाने लगे। उसी समय स्मृति ने वहां खड़ी एक पीसीआर गाड़ी को देखा। उन्होंने फौरन पुलिसकर्मियों से उस कार को रोकने के लिए कहा। इसके बाद पुलिस ने फ्रांस दूतावास के पास गाड़ी को रोका लिया।

इतना ही नहीं केंद्रीय मंत्री ने थाने में जाकर उन लड़कों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। आरोपी छा़त्र वसंत गांव में पीजी रहते थे और एक दोस्त के जन्मदिन की पार्टी में उन्होने शराब पी थी। पार्टी के बाद वह मस्ती करते हुए घूम रहे थे। इस बीच, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि अगर एक मंत्री के साथ ऐसी घटना हो सकती है तो कल्पना की जा सकती है कि आम आदमी की हालत क्या होगी।

मालीवाल ने ट्वीट किया दिल्ली में स्मृति ईरानी का आदमियों ने पीछा किया। अगर मंत्री के साथ ऐसा हुआ तो आम आदमी की हालत की कल्पना की जा सकती है। उन्हें (मंत्री को) जेड श्रेणी की सुरक्षा मिली है, लेकिन दूसरों का क्या? आरोपी युवकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here