रोहित शेखर तिवारी हत्या: दिल्ली की अदालत ने अपूर्वा को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा

0

उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की हत्या में गिरफ्तार उनकी पत्नी एवं वकील अपूर्वा शुक्ला को शुक्रवार को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

अपूर्वा
फोटो: ANI

भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, मुख्य मेट्रोलिटन मजिस्ट्रेट दीपक सहरावत ने पुलिस द्वारा यह जानकारी दिए जाने के बाद कि अपूर्वा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जरूरत नहीं है, उसे जेल भेज दिया। तिवारी की हत्या के आरोप में अपूर्वा को 26 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। हत्या का कारण वैवाहिक जीवन में तनाव और नाराजगी बताया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, 15 और 16 अप्रैल के दरम्यानी रात में गला दबा कर रोहित की हत्या की गई थी। उच्चतम न्यायालय की वकील अपूर्वा से रविवार से हत्या को लेकर पूछताछ की जा रही थी।

पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक, अपूर्वा अजीब व्यवहार कर रही हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कभी वह अपनी हरकत पर पछतावा जताती हैं और कभी घटना के बारे में एकदम उदासीन प्रतीत होती हैं।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि चार दिन तक चली गहन पूछताछ के दौरान वह एक बार भी नहीं टूटी लेकिन ऐसा लगता है कि वह 15-16 अप्रैल की रात को तिवारी का गला घोंटने को लेकर अब पछतावे में हैं। अपूर्वा ने यह भी दावा किया कि तिवारी की मां उज्ज्वला अक्सर उनके बीच दखल देती थी और इससे दंपति के रिश्ते पर असर पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here